Eggs: देसी अंडे और सफेद अंडे में क्या है अंतर? जानिए कौन सा है बेहतर…..

Eggs: सर्दियों के मौसम में शरीर को ठंड से बचाने के लिए हम कई तरह के खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं. इसमें से एक अंडा भी है. अंडे का सेवन लोग सर्दियों में ज्यादा करते हैं, जिससे उनका शरीर गर्म रहे और उन्हें पर्याप्त पोषक तत्व मिलें. आपने अक्सर ये बात अंडों को लेकर सुनी होगी कि लोग सफेद अंडो के बजाय अपने घर परिवार में लोगों को देसी अंडे खाने की सलाह देते हैं. हर कोई बस यही बात कहता है कि सेहत अच्छी करनी है या तंदुरुस्त रहना है तो देसी अंडे खाओ. आखिर ये बात क्यों कही जाती है, इसके पीछे क्या कारण है ये जानिए.

प्रोटीन का सबसे अच्छा सोर्स अंडे को माना जाता है. इसमें कैल्शियम की भी प्रचुर मात्रा पाई जाती है, जो शरीर की हड्डियों के लिए फायदेमंद है. अंडा न केवल खाने में आसान है, बल्कि इसे घर पर स्टोर करना और बनाना भी आसान है. वैसे तो सफेद या भूरा, दोनों ही अंडे सेहत के लिए फायदेमंद हैं, लेकिन कुछ लोग देसी अंडों यानी भूरे अंडों को सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद या सलाह के तौर पर लोगों को बताते हैं.

Eggs

दोनों अंडो में क्या है अंतर?

दोनों अंडो में सबसे प्रमुख अंतर इनके रंगों का है. ये रंग का अंतर भी मुर्गी की वजह से आता है. अगर किसी मुर्गी के पंख भूरे हैं तो मुर्गी का अंडा भी भूरा होगा जबकि, सफेद पंखों वाली मुर्गी का अंडा सफेद होगा. हेल्थ एक्सपर्ट्स कि माने तो दोनों ही अंडे एक जैसे ही पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं. अंडे कितने पौष्टिक हैं ये इस बात पर निर्भर करता है कि मुर्गी का खानपान और रहने की जगह कैसी है.

आखिर क्यों देसी अंडो को कहा जाता है बेहतर

अक्सर अपने लोगों को ये बात कहते हुए सुना होगा की सफेद के बजाय देसी अंडे खाने चाहिए. ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि देसी अंडे पौष्टिक तत्वों से तो भरपूर होते ही हैं साथ ही देसी मुर्गियों की देखरेख और खानपान सफेद मुर्गियों की तुलना में अच्छी होती है. दरअसल, सफेद मुर्गियों की देखरेख फार्म के अंदर की जाती है. साथ ही उन्हें कई तरह के इंजेक्शन भी लगाए जाते हैं जो आर्थिक मुनाफे के लिए किया जाता है.

जबकि, जो लोग घरों में मुर्गी पालन करते हैं या मुर्गियों को स्वस्थ तरीके से रखते हैं, ऐसी मुर्गी का अंडा सफेद मुर्गियों की तुलना में ज्यादा पौष्टिक और शरीर के लिए फायदेमंद होता है. अंडों में मौजूद पोषक तत्व सीधे इस बात पर निर्भर है कि मुर्गी का खानपान और देखरेख कैसी है. मुर्गियों को अगर प्राप्त मात्रा में धूप और उनका खान-पान अच्छा हो तो दोनों ही प्रकार के अंडे सेहत के लिए फायदेमंद हैं.

Read More: नकली अंडो की मार्किट में है भरमार, ऐसे करें असली और नकली अंडे की पहचान…..

सफेद और भूरे दोनों ही अंडों में विटामिन ए, विटामिन B12, विटामिन डी, विटामिन ई और फोलेट, सेलेनियम, कोलीन जैसे खनिज पाए जाते हैं. यदि मुर्गी की देखरेख और खानपान अच्छा हो तो ये सभी शरीर को ज्यादा लाभ पहुंचाते हैं बजाय उसके जिस मुर्गी की देखभाल औसत किस्म से की गई हो या सिर्फ आर्थिक लाभ के लिए.