25.9 C
New York
Friday, June 21, 2024

Buy now

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रशांत किशोर ने किया बड़ा ऐलान

राजनीतिक सलाहकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) इन दिनों काफी चर्चा में है। चर्चा का कारण है चुनाव। आने वाले वर्ष 2022 में उत्तर प्रदेश (UP Assembly Election) के साथ-साथ कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टी के नेता अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर जनता से मुलाकात कर रहे हैं। उनसे बात विचार कर रहे हैं और साथ ही साथ जनसमर्थन जुटाने की मांग कर रहे हैं। आपको बता दें कि प्रशांत किशोर एक राजनीतिक सलाहकार है, जो भारतीय जनता पार्टी के साथ-साथ कई पार्टियों की मदद कर चुके हैं। हाल ही में प्रशांत किशोर ने एक बयान दिया था। जिसे लेकर चर्चाएं हो रही हैं। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

प्रशांत किशोर ने कहा अब वह कुछ दिन चुनावों से रहेंगे दूर

दरअसल प्रशांत किशोर बयान देते हुए कहते हैं कि अब वे कुछ दिनों के लिए चुनाव से दूर रहना चाहते हैं। क्योंकि चुनावी रणनीति बनाने के लिए चुनाव के साथ-साथ वहां के लोगों को भी समझना बहुत जरूरी होता है। साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि अभी चुनाव में काफी समय है। जब चुनाव आएगा तब हम इस पर आगे बात करेंगे। फिलहाल हम चुनाव से दूर रहना चाहते हैं क्योंकि चुनाव से पहले चुनावी बातें करने से वहां की स्थानीय लोगों के मूड में बदलाव आ सकता है।

बंगाल चुनाव के बाद प्रशांत किशोर ने लिया एक अहम निर्णय

जैसा कि आपको पता है कि प्रशांत किशोर बंगाल चुनाव के समय बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए काम कर रहे थे। हालांकि चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस जीत गई लेकिन ममता बनर्जी को हा र मिली। फिलहाल ममता बनर्जी कुछ ही समय के लिए मुख्यमंत्री पद पर विराजमान रहने वाली है क्योंकि उन्हें सांसदों का समर्थन प्राप्त है। सांसदों के समर्थन से ममता बनर्जी केवल 6 महीने तक ही मुख्यमंत्री बन सकती है। अगर ममता बनर्जी ऐसे ही मुख्यमंत्री पद पर विराजमान रहना चाहती है तो उन्हें चुनाव में उतर कर जीतना होगा।

Also Read:- झारखंड विधानसभा में सोरेन सरकार ने कर दी ये व्यवस्था….

2024 में होने वाले चुनाव से बना सकते हैं दूरी

कुछ राजनीतिक विशेषज्ञ यह कयास लगा रहे हैं कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर 2024 में होने वाले चुनाव से दूरी बना सकते हैं। क्योंकि उन्होंने बीते दिनों पहले ही कहा था कि वह चुनाव से दूरी बनाना चाहते हैं। उन्होंने यह साफ नहीं किया कि आखिर वह कब तक चुनाव से दूर रहेंगे। प्रशांत किशोर ने कहा था कि वह नए अवसर की तलाश में है। जब तक उन्हें नए अवसर नहीं मिलेंगे तब तक वह चुनाव में नहीं उतरेंगे और ना ही किसी पार्टी को समर्थन देंगे।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles