11.1 C
New York
Sunday, April 21, 2024

Buy now

किसान महापंचायत में खुल गया किसान आंदोलन का भेद, राकेश टिकैत ने

भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait)  किसानों के नाम पर लगातार राजनीति करते नजर आ रहे हैं। हालांकि आधिकारिक रूप से राकेश टिकैत इस बात को स्वीकार नहीं करते हैं। मगर कोई भी इंसान राकेश टिकैत को देख कर यह अंदाजा लगा सकता है की आखिर वे किस कदर राजनीति कर रहे हैं। बीते कल यानी 5 सितंबर को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) का आयोजन हो रहा था। इस महापंचायत में राकेश टिकैत एक विशेष समुदाय को लेकर कुछ ऐसा कहते हैं। जिसे जानने के बाद आपको साफ हो जाएगा की आखिर टिकैत किस तरह से धर्म कि राजनीति करना चाहते हैं। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

राकेश टिकैत ने लगाए धर्म विशेष के नारे

दरअसल बीते कल यानी 5 अगस्त को राकेश टिकैत मुजफ्फरनगर में आयोजित किसान महापंचायत के दौरान मुस लमानों के रहनुमा बनने की कोशिश करते नजर आते हैं। राकेश टिकैत मुजफ्फरनगर के मुस लमानों को लुभाने के लिए अ ल्लाह हु अक बर के नारे लगाते हैं। राकेश टिकैत भले ही एक विशेष समुदाय को खुश करने के लिए नारा लगा रहे हो लेकिन उन्हें यह भी नहीं पता की आखिर यह नारा लगाते कैसे हैं। मंच पर कई किसान नेता मौजूद नजर आते हैं लेकिन किसी को भी या नहीं पता कि आखिर यह नारा लगाते कैसे हैं।

राकेश टिकैत को नहीं मिला मुजफ्फरनगर के मुस लमानों का समर्थन

इससे यह साफ होता है कि उन किसानों के बीच ना तो कोई मुस लमान समुदाय है और ना ही उस किसान महापंचायत में कोई मुजफ्फरनगर का निवासी रहा होगा। क्योंकि अगर उस मंच पर कोई मुस लमान समुदाय का होता तो वह सुधार करने की जरूर कोशिश करता। आपको बताते चलें कि राकेश टिकैत जो नारे लगा रहे हैं। उसे लगाने का सही तरीका है ‘नारे तकबीर उसके बाद अ ल्लाह हु अक बर  बोला जाता है। लेकिन ये किसान नेता सिर्फ अ ल्लाह हु अक बर बोलते नजर आ रहे  हैं।

राकेश टिकैत ने कहा बीना कृषि कानून वापसी के घर वापसी नहीं

जैसा कि आपको पता है कि बीते लगभग 9 महीनों से राजस्थान, पंजाब तथा उत्तराखंड के किसान दिल्ली की सीमाओं पर तीन कृषि कानूनों को वापस करवाने के लिए बैठे हैं। इन किसानों के बारे में राकेश टिकैत बात करते हुए कहते हैं कि भले ही वहाँ हमारी क ब्रगाह बन जाए, लेकिन हम वहाँ से नहीं जाएँगे। उन्होंने कहा ”हम आपसे वादा लेकर जाते हैं कि अगर वहाँ पर हमारी क ब्रगाह बनी तो भी हम वहीं रहंगे और बगैर जीते वापस नहीं आएँगे।”

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles