पूरी तरह कंगाल हुआ पाकिस्तान ! PM इमरान खान ने खुले मंच से कहा देश चलाने को पैसा नहीं….

Pakistan PM on Economy: पाकिस्तान में लगातार सामानों की कीमत बढ़ती जा रही है। पाकिस्तान के लोगों के पास पैसे नहीं हैं। सिर्फ इतना ही नहीं पाकिस्तान सरकार के पास भी साजो सामान औरअनाज खरीदने के लिए भी पैसे नहीं है। यह बात हम नहीं बल्कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) ने खुद कहा है। इस खबर के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आखिर क्यों और कैसे पाकिस्तान लगातार गरीबी की स्थिति में जाता दिख रहा है। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

देश चलाने के लिए नहीं है पैसे– इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) एक उद्घाटन समारोह में शामिल हो रहे थे। उसी समय उन्होंने अपने अभिभाषण में कहा है कि देश चलाने के लिए पर्याप्त रूप से पैसे नहीं है। उन्होंने कहा है कि यही वजह है कि पाकिस्तान को अलग अलग देशों से उधार में पैसे लेने पड़ रहे हैं। पाकिस्तान में पैसों की कमी का कारण बताते हुए उन्होंने कहा है कि टैक्स कलेक्शन में कमी आ रही है। विदेशी कर्ज बढ़ता ही जा रहा है। यही वजह है कि पाकिस्तान कं गाल होता जा रहा है।

कर्ज लेने के लिए तैयार है इमरान खान सरकार

इमरान खान सरकार अन्य देशों से कर्ज लेने के लिए तैयार है। बीते दिनों पाकिस्तान कंट्रोल बोर्ड ऑफ रेवेन्यू (Pakistan Control Board of Revenue) के पहले ट्रेक एंड ट्रेस सिस्टम के उद्घाटन में इमरान खान शामिल हो रहे थे। उसी समय उन्होंने यह जानकारी दी है। इमरान खान ने अन्य देशों से कर्ज लेने का निर्णय लिया है। इससे देश में गरीबी और बढ़ सकती है। इमरान खान सरकार ने पहले ही अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से कर्ज लिया हुआ है। एक बार और कर्ज लेने के बाद पाकिस्तान में महंगाई बढ़ने की संभावना है।

Also Read:- इजराइल ने ईरान को लेकर कह दी ये बात…

बिजली की दरों में होगी बढ़ोतरी

इस मामले में प्रधानमंत्री के सलाहकार तारीन शौकीन ने कहा है कि अगले कुछ महीनों में बिजली की दरों में वृद्धि हो सकती है। वर्तमान समय में 50 पैसे प्रति यूनिट बिजली की दर है। बिजली दरों में बढ़ोतरी होने की संभावना है। हालांकि उन्होंने कहा है कि सर्कुलर ऋण के आधार पर बिजली बिल की कीमत तय की जाएगी। सिर्फ इतना ही नहीं पाकिस्तान में पेट्रोल की भी कीमत भारत से ज्यादा हो गई है। एक समय ऐसा था जब पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत भारत से कम थी।