PM मोदी ने किया कृषि कानूनों की वापसी का ऐलान, असदुद्दीन ओवैसी ने कह दी ये बात…..

पंजाब (Punjab) तथा हरियाणा (Haryana) के किसान बीते लगभग 1 वर्षों से दिल्ली की सीमाओं (Delhi’s Border) पर तीन कृषि कानूनों (Farm Bills) को वापस करवाने के लिए बैठे थे। किसान लगातार सरकार से यह मां ग कर रहे थे कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए। कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए सरकार के साथ कई दौर की बातचीत भी हुई थी। इसके बावजूद भी बात नहीं बन पा रही थी। PM मोदी द्वारा तीनों कृषि कानून को वापस लेने का निर्णय लेने के बाद ही AIMIM पार्टी के नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने अपने टि्वटर हैंडल के माध्यम से ट्वीट किया है। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

महीने के आखिरी तक होगा तीनों कृषि कानून वापस

पीएम नरेंद्र मोदी आज राष्ट्र को संबोधित (PM Modi Address the Nation) कर रहे थे। इसी समय उन्होंने किसानों के बारे में बात करते हुए कहा है कि 3 नए कृषि कानूनों को सरकार वापस लेने के लिए तैयार हो गई है। इसे जल्दी ही वापस लिया जाएगा। साथ ही साथ यह भी कहा गया है कि भारत सरकार कभी भी किसानों के बारे में बु रा नहीं सोचती है। उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव जी (Guru Nanak Jayanti) के पवित्र प्रकाश पर्व पर एक अहम निर्णय लेने जा रहे हैं। अब तीनों कृषि कानून जल्दी ही वापस लिया जाएगा।

AIMIM पार्टी के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने किया ट्वीट

AIMIM पार्टी के नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने ट्वीट किया है। ट्वीट में असदुद्दीन ओवैसी तीनों कृषि कानूनों को लेकर बातें करते नजर आ रहे हैं। असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि “दहन पर हैं उन के गुमाँ कैसे कैसे, कलाम आते हैं दरमियाँ कैसे कैसे, ज़मीन-ए-चमन गुल खिलाती है क्या क्या, बदलता है रंग आसमाँ कैसे कैसे।” इसके साथ ही असदुद्दीन ओवैसी एक अन्य ट्वीट में लिखते हैं कि “यह भी एक अच्छा उदाहरण है कि क्यों एक देश, एक चुनाव नहीं होना चाहिए। स त्ता में होने वाली पार्टी को हमेशा जवाबदेह ठहराना चाहिए। अहम नेताओं को यह लगा कि अरबपति उनकी मदद के लिए आगे नहीं आए।

Also Read:- जाने कृषि कानून वापस कर PM मोदी ने कैसे खेला मास्टरस्ट्रोक, भाजपा को होगा ये फायदा…

एमएसपी में पारदर्शीता लाने के लिए बनाई जाएगी एक कमेटी

पीएम मोदी एमएसपी को लेकर भी संबोधन में जानकारी दे रहे थे। एमएसपी को लेकर उन्होंने कहा कि इसे बहुत ही ज्यादा प्र भावी और पारदर्शी बनाना बहुत जरूरी है। एमएसपी में पारदर्शिता लाने के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी। इस कमेटी में केंद्र सरकार, राज्य सरकार के साथ-साथ कई किसान भी होंगे। कृषि वैज्ञानिक और कृषि अर्थशास्त्री को भी इस कमेटी में जगह देने की बात कही गई है। तीनों कृषि कानूनों को वापसी लेने का निर्णय करने बाद ही दिल्ली के सीमाओं पर बैठे किसान खुश नजर आ रहे हैं।