कमला हेरिस को लेकर आयी ये खबर……

अमेरिका(America) के राष्ट्रपति(president) चुनाव(Election) में जो बाइडेन(Joe Biden) और कमला हैरिस(Kamala Harris) के बीच अच्छे तालमेल की चर्चा हर तरफ हो रही थी। लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि फिलहाल कमला हैरिस को अपने बॉस जो बाइडेन के तुलना में अधिक लोक प्रिय माना जाने लगा। इसीलिए जो बाइडेन ने हैरिस को अलग-थलग करने की ठान ली है। प्रशासन में कमला हैरिस जो बाइडेन की अपेक्षा काफी चर्चा में रहीं। इसका सबसे ब ड़ा कार ण है। कमला हैरिस पहली महिला बल्कि पहली अश्वेत उपराष्ट्रपति(Vice president) भी हैं। लोगों का मानना था कि हैरिस आज न कल अमेरिका की राष्ट्रपति बनेंगी। ये सब जानकर बाइडेन ने उन्हें अपनी टीम से अलविदा करने का मन बना लिया है तो वो इस बात को लेकर भी काफी स तर्क हैं कि दुनिया में यह संदेश न जाए कि उनकी हैरिस से कोई अनबन हुई है।

मीडिया में कमला हेरिस हटाने की आ रही खबर

अमेरिकी मीडिया(America Media) में आ रही खबरों(news) के अनुसार,बाइडेन ने रणनीति के तहत कमला हैरिस(Kamala Harris) को ऐसे टास्क(Task) दिए जो अधिक सं वेदनशील थे और जिनसे निपटना बहुत कठिन है। इसी के साथ अमेरिका में शरणार्थियों और मताधिकार के मुद्दे भी ऐसे ही थे जिन्होंने बाइडेन की चाल को और आसान बना दिया है। जिससे कमला हैरिस की लोकप्रियता का ग्राफ(Graph) गिरने लगा। पिछले हफ्ते ही एक पोल में हैरिस की अप्रूवल रेटिंग घटकर सिर्फ 28 प्रतिशत जबकि बाइडेन की 38 प्रतिशत पर आ गई। जिसके बाद से लगातार खबरें आने लगी हैं कि हैरिस को वाइट हाउस(White House) के बाहर का रास्ता दिखाने की पूरी तैयारी हो रही है।

वाइट हाउस के प्रवक्ता जेन साकी कहा

दरअसल, वाइट हाउस(White House) के प्रवक्ता जेन साकी ने ट्विटर(Twitter) पर उपराष्ट्रपति की तारीफ करते हुए कहा है कमला हैरिस एक अच्छी लीडर( Good Leader)है जो राष्ट्रपति बाइडेन की मुख्य सहयोगी हैं।जिन्होंने वोटिंग राइट(voting Right) जैसी बड़ी चुनौतियों को निपटाने के जिम्मा उठाया है। जिन्होंने देश की बड़ी चुनौतियों से निपटने का जिम्मा उठाया। लेकिन, मीडिया की खबरें कुछ और ही कहानी कह रही हैं।

Read Also:-भारत ने यूएन में पाक को सुनाई खरी-खरी. पढ़ें पूरी ख़बर..!!

उप राष्ट्रपति को हटाने की तैयारी : फॉक्स न्यूज

फॉक्स न्यूज(fox News) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिकी संसद में कुछ ऐसा चल रहा हैं जो कई सालों से नहीं हुआ। लगता है , यह नए उपराष्ट्रपति(Vice president) के चयन की बात है। बाद में एक पोडकास्ट(Podcast) में बताया गया कि उन्हें एक पत्र मिला जिसमें साफ हो गया था कि उपराष्ट्रपति बदलने वाली हैं।