जाने कृषि कानून वापस कर PM मोदी ने कैसे खेला मास्टरस्ट्रोक, भाजपा को होगा ये फायदा…

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपनी सरकार बनने के बाद ही कह दिया था कि किसानों की आय दोगुनी (Farmer Income Double) होगी। इसे देखते हुए केंद्र में मौजूद भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार ने तीन नए कृषि कानून (Farm Bills) बनाए थे। इस कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस (Congress) तथा अन्य पार्टी के नेता लगातार यह मां ग कर रहे थे कि इन कानूनों को सरकार वापस ले। कांग्रेस तथा अन्य पार्टियों के साथ पंजाब (Punjab) तथा हरियाणा (Haryana) के किसान भी आ गए थे। दोनों ही राज्यों के किसान देश की सीमाओं पर बैठे भारत सरकार से यह मांग कर रहे थे कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

भारतीय जनता पार्टी और किसान दोनों को होगा लाभ

पीएम मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा है कि तीनों कृषि कानूनों (Farm Bills) को संसदीय प्रक्रिया के तहत वापस लिया जाएगा। पीएम मोदी द्वारा तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के निर्णय के बाद ही कांग्रेस तथा अन्य पार्टी के नेता इसे अपनी जीत बता रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ किसान नेता राकेश टिकैत (Farmer Leader Rakesh Tikait) ने कहा है कि जब तक लिखित रूप से तीनों कृषि कानून को वापस नहीं लिया जाएगा। तब तक वे दिल्ली की सीमा से वापस नहीं लौटने वाले हैं।

पश्चिमी यूपी के ज्यादातर वोटर हैं किसान

जैसा कि आपको पता है कि आने वाले वर्ष 2022 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election) होने हैं। विधानसभा चुनाव को लेकर अलग-अलग पार्टी के नेता तैयारी कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने भी एक बहुत ही अहम दांव खेला है। पश्चिमी यूपी (Western UP) के रहने वाले वॉटर ज्यादातर किसान हैं। यही वजह है कि भारतीय जनता पार्टी ने कृषि कानून को वापस लेने का निर्णय लिया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा की कुल 403 सीटों में से 110 सीटों पर किसान वोटर वोट करने वाले हैं। पश्चिमी यूपी से बीजेपी को 2012 में 30 और 2017 में 88 सीटें मिली थी।

Also Read:- कृषि कानून की वापसी कंगना रनौत को नहीं आई रास ! जश्न मनाने वालों को कह दी ये बात…

पंजाब में मिल सकता है कैप्टन अमरिंदर सिंह का साथ

जैसा कि आपको पता है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amrindar Singh) पंजाब के मुख्यमंत्री थे लेकिन कांग्रेस ने इस्ती फा देने के लिए कह दिया था। 23 अक्टूबर को कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि अगर भारतीय जनता पार्टी तीनों कानूनों को वापस लेती है। तो वे पार्टी के साथ जा सकते हैं। पंजाब की 117 सीटों पर किसान वोट करने वाले हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी को यहां से 77 सीटें मिली थी। वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी को यहां से 3 सीटें मिली थी। अगर कैप्टन अमरिंदर सिंह भारतीय जनता पार्टी के साथ आते हैं, तो बीजेपी को लाभ होगा।