8.1 C
New York
Sunday, April 21, 2024

Buy now

पंजाब में भाजपा को मिलेगा नया कैप्टन!

पंजाब (Punjab) में भी जल्द ही विधानसभा चुनाव (Assembly Election) होने वाले है। चुनाव से पहले ही पंजाब कांग्रेस  (Punjab Congress) में रस्साकस्सी जारी है। कांग्रेस (Congress) आलाकमान ने कैप्टन अमरिंदर (Amarinder Singh) और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के बीच तालमेल बैठाने की बहुत कोशिश की। आखिरकार पंजाब कांग्रेस की कमान नवजोत सिंह सिद्धू के हाथों में दी और कैप्टन अमरिंदर को मुख्यमंत्री के रूप में बरकरार रखा। इतना सब कुछ होने के बाद भी पंजाब कांग्रेस में खेमेबाजी अभी भी जारी है। कांग्रेस आलाकमान के इस निर्णय ने खेमेबाजी को और बढ़ा दिया है। सिद्धू का कद बढ़ गया है, जबकि कैप्टन अमरिंदर कांग्रेस आलाकमान से खुश नहीं दिखाई दे रहे है। इस बीच भाजपा (BJP) के लिए पंजाब से एक अच्छी ख़बर आ रही है। भजपा को पंजाब में नया कैप्टन मिल सकता है?

पीएम मोदी से मिल सकते है कैप्टन अमरिंदर

पंजाब कांग्रेस  में कैप्टन अमरिंदर की स्तिथि पहले जैसी नहीं है। सिद्धू ने एक बार फिर मुख्यमंत्री अमरिंदर को लेकर मो र्चा खोल दिया है। सिद्धू कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी से मिले। हालांकि सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने उन्हें कैप्टन अमरिंदर के साथ मिलकर काम करने की नसीहत दी। इससे ज्यादा चर्चा तो कैप्टन अमरिंदर के पीएम मोदी (PM Modi) से मुलाकात की है। इससे एक दिन पहले ही उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मुलाकात की हैं। पंजाब में जारी राजनीतिक उठापटक को देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि कैप्टन अमरिंदर भाजपा का दामन थाम सकते है। अगर ऐसा होता है, तो पंजाब की राजनीति एक दम से पूरी तरह बदल जाएगी।

ढीली हुई कैप्टन अमरिंदर की प कड़

पंजाब की राजनीति में कैप्टन अमरिंदर एक ब ड़ा चेहरा है। लेकिन हाल फिलहाल की राजनीति को देखें तो यह कहना गलत नहीं है कि उनकी पक ड़ ढीली हुए है। सिद्धू के राजनीतिक सफर को देखर यह लगता है कि आगे भी उनका व्यवहार ऐसा ही रहेगा। पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू भले ही एक लोकप्रिय चेहरा है। मगर मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के आगे अभी वह कमजोर है।

Also Read:- लालू की पार्टी RJD ने आरक्षण को लेकर कर दिया ऐसा ट्वीट

क्या भाजपा का दामन थामेंगे कैप्टन?

पीएम मोदी से उनकी संभावित मुलाकात को लेकर कहा जा रहा है कि कृषि बिल और सैन्य विषयों को लेकर यह बैठक होगी। मगर यह कयास लगाया जा रहा है कि इस मुलाकात में पंजाब की राजनीति को लेकर भी चर्चा हो सकती है। हालांकि राजनीतिक पंडितों ने इस अनुमान को एक सिरे से नकार दिया कि वह भाजपा का दामन थाम सकते है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles