9/11 के बाद कौन था वो शख्स जिसने राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश को जानकारी दी थी….

9/11 मामला तो आपको याद होगा। बीते 20 साल पहले आज ही के दिन यानी 9 सितंबर को अमेरिका (America) के ट्रेड सेंटर (Trade Centre) पर अलकायदा ने कुछ ऐसा किया था। जिससे ना सिर्फ अमेरिका बल्कि पूरा विश्व हिल गया था। कुछ अलग होने वाला था इस बात की जानकारी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश को किसने दी? किसने बताया होगा कि अमेरिका में क्या हुआ है? उन्हें यह मैसेज देने वाला व्यक्ति कौन था? उसने जॉर्ज डब्ल्यू बुश से क्या कहा? सिर्फ इतना ही नहीं 36 दिन पहले इस बात की जानकारी दी गई थी कि अमेरिका में कुछ अलग होने वाला है। तब किसी ने ध्यान क्यों नहीं दिया? आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

एंड्रयू कार्ड ने राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश को दी थी जानकारी

आपको बता दें कि जिस व्यक्ति ने राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश को 9–11 के बारे में जानकारी दी थी। उसने बताया था की मामले के समय उसके दिमाग में सबसे पहला नाम लादेन का आया था। उन्होंने आगे बताया कि विमान के लगते ही पायलट को हार्ट अटै क आया होगा। आपको बताते चलें कि राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश को जानकारी देने वाले व्यक्ति का नाम एंड्रयू कार्ड था। एंड्रयू कार्ड साल 2001 में बुश के चीफ ऑफ स्टाफ थे। उनके पास ही खबर देने की पूरी जिम्मेदारी थी। मामले के समय बुश फ्लोरिडा के सरसोटा में एक स्कूल का निरीक्षण कर रहे थे।

मामले के समय पुस्तक पढ़ रहे थे जॉर्ज डब्ल्यू बुश

राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने बताया कि जब उन्हें मामले की जानकारी मिली तो उन्हें यकीन नहीं हुआ कि आखिर यह कैसे हो सकता है कि कोई अमेरिका में इस तरह का काम कर जाए। जब वह बच्चों के साथ कक्षा में एक पुस्तक पढ़ रहे थे तभी उन्हें मामले की जानकारी मिली थी। जानकारी मिलने के बाद बुश को लगा नहीं कि वास्तव में भी ऐसा हो सकता है। लेकिन कुछ मिनटों के बाद पूरी कहानी स्पष्ट हो गई। तब एंड्रयू कार्ड की जिम्मेदारी थी कि वे राष्ट्रपति को मामले की जानकारी दें।

Also Read:- तालिबान ने महिला अधिकारों को लेकर दिया यह बयान…….

एंड्रयू कार्ड ने कान में मामले की जानकारी दी

एक इंटरव्यू के दौरान एंड्रयू कार्ड ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश के कान में कहा था कि “अमेरिका इज अंडर अटै क।” एंड्रयू कार्ड आगे बताते हैं कि उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि वह किस तरह राष्ट्रपति को मामले की जानकारी दें। आखरी में उन्होंने कमरे का दरवाजा खोला। वहां राष्ट्रपति मौजूद थे। वे राष्ट्रपति के पास गए और झुक कर दाहिने कान में मामले की जानकारी दी।