बागपत के 15 दलितों के साथ क्या हुआ जाने पूरा मामला….

दलितों को लेकर लगातार मीडिया (Media) में खबरें आती रहती हैं। आज ऐसी ही दलितों को लेकर अहम खबर आई है। यह खबर बागपत (Bagpat) के खेकड़ा (Khekda) कोतवाली क्षेत्र के अहमदनगर (Ahamadnagar) नंगलाबड़ी (Nanglabadi) गांव से आई है। जिसमे बता गया है कि दलित समाज के 15 से अधिक लोगों का से धर्म बदल दिया गया है। उन लोगों को इस बात की जानकारी 4 साल बाद पता चली है। आइए आपको बताते हैं विस्तार से पूरी खबर।

4 साल बाद पता चलता है दलित परिवार को कि वह मु स्लिम हो गए हैं

अहमदनगर (Ahamadnagar) नंगलाबड़ी (Nanglabadi) गांव में दलित समाज के कुछ लोग रहते हैं। जिनका नाम है मनोज (Manoj), पप्पू (Pappu) और ज्योति (Jyoti) आदि हैं। इस दलित परिवार का कहना है कि करीब 4 साल पहले गांव के मु स्लिम समाज के लोगों ने उनके घर आए थे। उन्होंने सरकार (Government) से मिलने वाले लोन (Loan) की जानकारी दी थी और कहा था। लोन लेने के बाद पैसा वापस नहीं करना है। इसके बाद उन्होंने फॉर्म (Form) भरवा लिया था। इसके बाद आधार कार्ड (Aadhar Card) बनाने वाली मशीन उनके घर पर लाकर। उनकी उंगलियों के निशान लिए और शपथ पत्र भी हस्ताक्षर कराए।

दलित परिवार की हिंदू जागरण मंच ने की मदद

आपको बता दें इस दलित परिवार को धर्म बदलने की बात का तब पता चला था। जब श्रम कार्डों (Labour Card) पर उनके मु स्लिम नाम आए।जब इस बात की सूचना गांव वालों को मिलती है तो उनको इस पर विश्वास नहीं होता है। इस बात की खबर हिंदू जागरण मंच को पता चलती है। तो हिंदू जागरण मंच के पदाधिकारियों इसकी पुलिस (Police) में सूचना दी। हिन्दू जागरण मंच के पदाधिकारी और कार्यकर्ता अहमदनगर नंगलाबड़ी गांव में पहुंचे। वहां उन्होंने दलित परिवारों से मुलाकात की और मामले की सच्चाई जानी।

Also Read:- 26/11 मामले की 13वीं बरसी पर Ratan Tata ने शेयर किया पोस्ट, कही ये बात….

खेकड़ा कोतवाली प्रभारी देवेश शर्मा ने क्या कहा

आर्य समाज (Arya Samaj) के पूर्व प्रधान एवं हिन्दू जागरण मंच के पदाधिकारी राकेश आर्य (Rakesh Arya) ने कहा है कि यह एक ऐसा नेटवर्क (Network) है। जिसके तार मेरठ (Meerut) से जुड़े हैं। उधर दलित समाज के लोगों ने भी थाने में सूचना दी है। लेकिन खेकड़ा के कोतवाली प्रभारी देवेश शर्मा (Devesh Sharma) का कहना है कि धर्म बदलवाने की बात सही नहीं है। श्रम कार्ड में नाम बदलने का मामला सामने आया है। इसकी सूचना हमे मिल गई है। जांच शुरू कर दी है। जल्द ही सब कुछ सामने आ जाएगा।