PM मोदी और CM योगी के लिए अनुचित शब्दों का इस्तेमाल करना ओवैसी को पड़ा भारी

उत्तर प्रदेश के साथ ही साथ अन्य कई राज्यों में 2022 में विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) होने हैं। यूपी विधानसभा चुनाव में AIMIM पार्टी के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) और सुहेलदेव समाज पार्टी के मुखिया ओमप्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) के साथ गठबंधन कर चुनाव में उतरने का निर्णय लिया है। आपको बता दें कि AIMIM और सुभासपा पार्टी उत्तर प्रदेश में 100 सीटों पर एक साथ उतरने के लिए तैयार है। असदुद्दीन ओवैसी इन दिनों उत्तर प्रदेश में जनता से जन समर्थन मांग रहे हैं। बीते दिनों उन्होंने अपने भाषण के दौरान कुछ ऐसा कहा जिसके बाद उनके ऊपर मामला दर्ज किया गया है। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम मोदी के साथ ही कई अन्य नेताओं के लिए अनुचित शब्दों का किया इस्तेमाल

आपको बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी ने उत्तर प्रदेश में जनता के बीच जन संवाद करते समय कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने सही सीएम का चुनाव नहीं किया। योगी आदित्यनाथ राज्य के लिए उचित नहीं है। क्योंकि उत्तर प्रदेश में हिंदू के साथ-साथ मु सलमान भी रहते हैं। लेकिन योगी आदित्यनाथ सिर्फ एक पक्ष की बात करते हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा शुरुआत की सदी में पुरानी म स्जिद को श हीद कर दिया गया। उत्तर प्रदेश पुलिस ने कहा है कि असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री मोदी के साथ ही साथ योगी आदित्यनाथ के बारे में अनुचित शब्दों का इस्तेमाल किया।

कई धाराओं के साथ ओवैसी पर मामला दर्ज

बाराबंकी के एसपी यमुना प्रसाद ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि ओवैसी पर गुरुवार की रात को कई धाराओं के साथ मामला दर्ज किया गया है। धाराओं के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि ओवैसी पर धारा 153 ए, 188, 169 और 170 के लगाए गए हैं। इन धाराओं के तहत असदुद्दीन ओवैसी कोविड के नियमों का पालन नहीं कर रहे थे। अपने अभिभाषण के दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने रामसनेही घाट में उस म स्जिद का जिक्र भी किया था, जिसे सरकार द्वारा मई महीने में गिरा दिया गया था।

Also Read:- आज़म खां के हाथों से जौहर विश्वविद्यालय की गई कमान, सरकारी नियमों का नहीं किया था पालन

ओवैसी जनता को ब हलाने की कोशिश कर रहे थे

मामले की जानकारी देते हुए एसपी ने कहा कि अपने अभिभाषण के माध्यम से AIMIM पार्टी के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी उन लोगों को ब हलाने फुसलाने का काम कर रहे थे, जिन्हें ज्यादा जानकारी नहीं है। असदुद्दीन ओवैसी फैक्ट पर बात नहीं कर रहे थे बल्कि वह जनता के बीच अपने हिसाब से बातचीत करते हुए देखे गए। एसपी ने कहा कि ओवैसी वहां के लोगों के बीच स द्भाव बिगा ड़ना चाहते थे।