UP: मिलिए सबसे कम उम्र की जिला पंचायत अध्यक्ष से..

Uttar Pradesh: यूपी के बलरामपुर(Balrampur) की धरती पर भाजपा(BJP) के सबका साथ- सबका विकास और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा चरितार्थ होते देखने को मिल रहा है। यूपी में हुए जिला पंचायत के चुनावों में महज 21 वर्ष की आरती तिवारी(Aarti Tiwari) ने जीत दर्ज की और सीधे छात्र जीवन से राजनीति जीवन में प्रवेश करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष के रूप में शपथ ली। इसके साथ ही आरती तिवारी ने यूपी की सबसे कम उम्र की जिला पंचायत अध्यक्ष बनने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया।

डीएम श्रुति ने दिलाई पद और गोपनीयता की शपथ

बीए तृतीय वर्ष की छात्रा आरती तिवारी ने निर्विरोध जिला पंचायत के चुनावों जीत दर्ज की। डीएम श्रुति ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। कैसरगंज के बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह(Brij Bhushan Sharan Singh) शपथ ग्रहण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। आरती तिवारी के साथ जिला पंचायत के 40 सदस्यों ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली। नवगठित जिला पंचायत बोर्ड में जिला पंचायत अध्यक्ष सहित 90 प्रतिशत सदस्य युवा हैं।

छात्र जीवन से राजनीति जीवन में किया प्रवेश

जिला पंचायत अध्यक्ष बनने वाली आरती तिवारी बलरामपुर जिले के महारानी लाल कुंवरि स्नातकोत्तर महाविद्यालय में बीए तृतीय वर्ष की छात्रा हैं। बीजेपी ने आरती तिवारी को चौधरीडीह जिला पंचायत क्षेत्र से अपना उम्मीदवार बनाया था, जिसमें आरती तिवारी भारी मतों से विजयी हुईं। छात्र जीवन से सीधे राजनीतिक जीवन में प्रवेश करने वाली आरती तिवारी ने समाज के प्रति अपने दायित्वों को पूरा करने का संकल्प लिया। साथ ही कहा कि पार्टी जो भी जिम्मेदारी सौंपेगी, वह उसको निभाने का पूरा प्रयास करेंगी।

Also Read:- जानिए कैसे बदली दिल्ली के मजलिस पार्क में रह रहे पाकिस्तान से आए हिंदुओं की जिंदगी

चाचा ने निभाया साथ

आपको बता दें कि आरती के चाचा श्याम मनोहर तिवारी बलरामपुर जिले में भाजपा के पुराने नेता है। पार्टी ने पहले उन्हें ही टिकट दिया था। लेकिन जब उन्होंने देखा कि समाजवादी पार्टी ने किरण यादव को अपना उम्मीदवार बनाया है। तो श्याम मनोहर तिवारी ने अपनी भतीजी आरती को चुनावी मैदान में उतारने का फैसला किया।