24.9 C
New York
Tuesday, July 16, 2024

Buy now

काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर से आई ये ख़बर जनिये क्या है मामला….

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर ( Kashi Vishwanath Corridor) का निर्माण हो चुका है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने वहां उद्घाटन किया था। उनके साथ यूपी (UP) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) भी थे। काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर को लेकर काशी के मु सलमान क्या सोचते हैं यह चर्चा का विषय बना हुआ है। इसकी वजह है कि मु सलमानों की म स्जिद इसी कॉरिडोर में है। शायद इसलिए काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के मु सलमान थोड़ा असहज महसूस कर रहे थे। अब प्रधानमंत्री मोदी के उद्घाटन के बाद अच्छा महसूस कर रहे है।

मु सलमान  म स्जिद को लेकर असहज महसूस कर रहे थे

बनारस (Banaras) में काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) के पास में एक ज्ञानवापी म स्जिद है। जिस इस वजह से त्योहारों (festinals) पर इलाके में सु रक्षा बढ़ा दी जाती है। इसका सबसे बड़ा कारण है कि असामाजिक स्थितियां ना बि गड़े । जब सरकार ने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर को विकसित करने का निर्णय लिया था। कोई स्थानीय मु सलमानों में मस्जिद को लेकर थोड़ा असहज महसूस कर रहे थे उन्हें लगता कि म स्जिद में न माज के लिए जाने वाले मु सलमान कुछ परे शानियों का सामना करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विश्वनाथ धाम का लोकार्पण करने के बाद मु सलमान निश्चिंत हो गए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर (Kashi Vishwanath Corridor) का लोकअर्पित कर दिया है तब से वहां रहने वाले मु सलमान चिंता है बहुत खुश हुई है जिस तरह हिंदू श्रद्धालु खुश है। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर के भव्य लोकार्पण के साथ ही मु सलमानों की चिंता पूरी तरह गायब हो गई। स्थानीय मु सलमान ज्ञानवापी म स्जिद में शांति पूर्ण माहौल से इबादत कर रहे थे। काशी विश्वनाथ मंदिर के लोकार्पण के बाद मंदिर के दरवाजे आम लोगों के लिए खोल दिए गए हैं अब आम आदमी सीधे गंगा में डुबकी लगाकर बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर सकते हैं।

यासीन ने म स्जिद को लेकर टाइम्स ऑफ इंडिया से क्या कहा

आपको बता दें कि इस म स्जिद की देखभाल करने वाले अंजुमन इंतिजामिया के यासीन (Yasin) ने टाइम्स ऑफ इंडिया (Times of india) से बात करते हुए कहा किस काशी विश्वनाथ धाम (Kashi Vishwanath Corridor) के निर्माण की शुरुआत मैं हमारे अंदर ज्ञानवापी म स्जिद की सु रक्षा को लेकर थोड़ी आ शंकाएं थी लेकिन अब हम इसको लेकर निश्चिंत हैं। उनका कहना है। म स्जिद में नमाज पढ़ने के लिए टाइम फिक्स (Time Fix) कर दिया गया है। मैं उस वक्त बहुत अच्छा नहीं लगता था जब हिंदुओं को रोक दिया जाता था तो मु सलमानों को न माज पढ़ने की इजाजत दी जाती थी क्योंकि वहां एकमात्र रास्ता ही मौजूद था। आने वाले श्रद्धालुओं को अच्छा नहीं लगता होगा। लेकिन लोग अपने ईश्वर (God) की इबादत के लिए घंटो लाइन में लगे रहते थे।

Also Read:- गुरुग्राम में खुला Meta का 6 मंजिला नया हेड ऑफिस!

यासीन ने जमीन ने मामले को लेकर क्या कहा

यासीन (Yasin) से पूछा जाता है कि ज्ञानवापी म स्जिद और काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) के बीच जमीन मामला चल रहा है इस पर यासीन जवाब देते हैं की जमीन का मामला ज्यादा ब ड़ा नहीं है। मामला अदालत में चल रहा है सर हम केस ल ड़ रहे हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि कि हम काशी की शांति को बि गाड़े। यह मामला काफी पुराना है और लंबे समय से कोर्ट में चल रहा है।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles