गुरुग्राम में खुला Meta का 6 मंजिला नया हेड ऑफिस!

भारत (India) में आपको कई ऐसी अहम कंपनी देखने को मिल जाएगी। जिनके बारे में शायद ही आपने सुना होगा। आपको भारत में अमेजॉन (Amazon), फ्लिपकार्ट (Flipkart) और जोमैटो (Zomato) जैसे कंपनियों के दफ्तर (Office) देखने को मिलेंगे। हाल ही में भारत में मेटा (Meta) यानी फेसबुक (Facebook) का एक दफ्तर खोला गया है। इस खबर के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि मेटा कंपनी से भारत के लोगों को किस तरह लाभ मिलेगा और क्यों हो रही है इसकी खूब चर्चाएं? आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

गुरुग्राम में खुला 6 मंजिला दफ्तर

हरियाणा (Haryana) के गुरुग्राम (Gurugram) में मेटा के 6 मंजिला दफ्तर का बीते दिनों शुभारंभ किया गया है। यह इमारत 1 लाख 30 हजार वर्ग फुट में बनी है। मीडिया द्वारा मिल रही खबरों के अनुसार इस दफ्तर में आपको एशिया (Asia) में मेटा (Meta) की पहली स्टैंड अलोन (standalone) दफ्तर सुविधा देखने को मिलेगी। सिर्फ इतना ही नहीं इस दफ्तर में आपको भारत के साथ ही साथ कई अन्य देशों की संस्कृति देखने को मिलेगी। गुरुग्राम में दफ्तर खुलने से आसपास रहने वाले हजारों लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है।

Also Read:-Amazon की ये गुप्त वेबसाइट दे रही कमाल का ऑफर..

प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो ने ट्वीट कर दी जानकारी

प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो (PIB) ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल (Official Twitter Handle)  के माध्यम से उठकर इस बात की जानकारी दी है कि अब गुरुग्राम में फेसबुक (Facebook) यानी के एक दफ्तर का शुभारंभ किया गया है। इसके साथ ही साथ यह भी कहा गया है कि मेटा का दफ्तर खुलने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के द्वारा जारी आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा मिलेगा। क्योंकि लोग फेसबुक प्लेटफॉर्म के माध्यम से पैसे कमा कर आत्मनिर्भर (Selfdepend) बहुत ही आसानी से बन सकते हैं।

10 मिलियन छोटे व्यवसाय और 250000 लोगों को मिलेगा प्रशिक्षण

आपको बता दें कि गुरुग्राम में खुले फेसबुक (Facebook) यानी मेटा (Meta) के ऑफिस में लाखों भारतीय लोगों को प्रशिक्षण देने का काम किया जाएगा। अगले 3 वर्षों में भारत के 10 मिलियन छोटे व्यवसाय करने वालों और 250000 नए क्रिएटर को प्रशिक्षण दी जाएगी। उससे हमारी अर्थव्यवस्था मजबूत होगी और हमारे देश के कई लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। गुरुग्राम में मेटा का दफ्तर खुलने से आसपास के अन्य लोगों को भी रोजगार (Employment) मिलेगा।