राजस्थान के मंत्री के विचित्र बोल कहा “कैटरीना कैफ के गालों की तरह चमका दो सड़कें”

इन दिनों सोशल मीडिया (Social Media) पर एक वीडियो (Video) खूब देखा जा रहा है। वीडियो देखने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स अपने दोस्तों तथा रिश्तेदारों के बीच साझा भी कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग वीडियो देखकर सवाल कर रहे हैं। यह वीडियो कांग्रेस (Congress) शासित राज्य राजस्थान (Rajasthan) का है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) भी इस वीडियो को लेकर जवाब दे चुके हैं। इस खबर के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि सोशल मीडिया पर जारी वीडियो में क्या कुछ नजर आ रहा है। क्यों हो रही है इस वीडियो की खूब चर्चाएं? आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

कांग्रेसी नेता राजेंद्र गुढा ने सड़को की तुलना महिलाओं के गालों से की

आज हम ऐसे ही व्यक्ति की बात कर रहे है। एक ऐसे नेता की जिसने सड़कों की तुलना हेमा मालिनी (Hema Malini) और कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) के गालों से की है। ये नेताजी राजस्थान राज्य के मंत्री हैं। इनका नाम राजेंद्र गुड़ा (Rajendra Gudha) है। वैसे तो राजेंद्र गुड़ा के ऊपर कार्र वाई की मां ग की गई है। पार्टी ने कहा कि ऐसे मंत्री को तुरंत पद से अलग कर देना चाहिए। सड़कों की तुलना महिलाओं के गालों से किया जाना उचित नहीं है।

मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने दी नसीहत

राजस्थान के पंचायती राज और ग्रामीण विकास राज्य मंत्री राजेंद्र गुढा (Rajendra Gudha) हाल में झुंझुनू (Jhunjhunu) जिले के एक गांव में शिविर करने गए थे। वहां पर राजेंद्र गुढा ने अफसरों को कहा कि राज्य की सड़कें हेमा मालिनी (Hema Malini) के गालों की तरह चमकाई जानी चाहिए। मंत्री जी यहीं नहीं रुके सोचा और फिर दोबारा अफसरों से कहा कि हेमा मालिनी तो अब बूढी हो गई है। पूछा कि आजकल कौन सी अभिनेत्री फेमस चल रही है। तब लोगों ने कैटरीना (Katrina Kaif) का नाम लिया। इस पर मंत्री जी ने कहा तो फिर ऐसा कीजिए कि जिले की सड़कें कैटरीना कैफ के गालों की तरह बनाई जानी चाहिए। इस पर राजस्थान प्रदेश के बीजेपी प्रवक्ता रामलाल शर्मा (Ram Lal Sharma) ने कहा कि के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) को ऐसे मंत्रियों के ऊपर कार्य वाही करनी चाहिए।

Also Read:- राजनाथ सिंह ने खोला राज! बताया PM मोदी ने CM योगी के कंधे पर हाथ रखकर कही थी ये बात…

राजेंद्र गुढा हाल ही में कांग्रेस में हुए शामिल

राजेंद्र गुढा कुछ ही हफ्ते पहले मंत्री बने हैं। इससे पहले वह बीएसपी कैंडिडेट के रूप में विधायक का चुनाव जी ते थे। पिछले साल सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने CM अशोक गहलोत के ऊपर मोर्चा खोला था। उसी वक्त राजेंद्र गुढा और बीएसपी के 6 विधायकों ने गहलोत सरकार का समर्थन किया और कांग्रेस में शामिल हुए। इसी पर सीएम अशोक गहलोत ने राजेंद्र गुढा को वफादारी का इनाम देते हुए इसी हफ्ते हुए मंत्री परिषद पुनर्गठन में उन्हें मंत्री बनाया था।