कृषि कानून फिर हो सकते हैं,लागू? राज्यपाल ने कही ये बात…

कृषि कानूनों (Farmer Laws) को लेकर इन दिनों खूब चर्चा हो रही है। कृषि कानूनों की वापसी पर किसान नेताओं के साथ-साथ कई फिल्म अभिनेता और छोटे किसान खुश नजर आ रहे हैं।तो वहीं दूसरी तरफ इस पर राजनीति (politics) भी हो रही है। तीनों कृषि कानूनों की वापसी को लेकर कई पार्टी के नेता अपने ट्विटर हैंडल (Twitter Handle)के माध्यम से ट्वीट कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ कुछ नेता मीडिया (Media) में आकर तरह तरह के बयान भी दे रहे हैं। राजस्थान (Rajsthan)के राज्यपाल कलराज मिश्र ने एक बहुत ही अहम बयान दिया है। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

बीजेपी सांसद साक्षी महाराज भी दे चुके हैं बयान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के द्वारा तीनों कृषि कानूनों (Farmer Laws) की वापसी को लेकर जानकारी (information) देने के बाद ही भारतीय जनता पार्टी (BJP)के सांसद साक्षी महाराज ने एक बहुत ही अहम बयान दिया था इस बयान की खूब चर्चाएं हो रही है एक तरफ कुछ किसान खुशियां मनाते नजर आ रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ साक्षी महाराज द्वारा दिए बयान को लेकर नाखुश भी नजर आ रहे हैं साक्षी महाराज ने अपने बयान में कहा था कि बिल बनते और बिगड़ते रहते हैं यह फिर से वापस आ सकता है।

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने क्या कहा

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी कृषि कानून को लेकर एक बयान दिया है। कांग्रेस पार्टी (Congress Party) के नेता कलराज मिश्र के द्वारा बयान देने के बाद चर्चाएं करते नजर आ रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता (leader) उनका समर्थन (Support) भी कर रहे हैं। कलराज मिश्र (Kalraj mishra) ने कृषि कानून की वापसी पर पीएम मोदी की सराहना करते हुए कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो इस कानून को दोबारा बना सकते हैं। आपको बता दें कि 19 नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी ने कृषि कानूनों की वापसी का निर्णय लिया था।

Read Also:-Kangana Ranaut ने Indira Gandhi को लेकर कुछ ऐसा लिख दिया, जिसे पढ़कर उड़ जायेंगे आपके होश !

पीएम ने राष्ट्र और बिल दोनों में से राष्ट्र को चुना

साक्षी महाराज (Sakshi Maharaj) ने अपने बयान में कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि कानूनों और राष्ट्र (Nation)को एक साथ देखते हुए अपने राष्ट्र को चुनने का निर्णय लिया है यह बहुत ही सराहनीय है। उन्होंने कहा कि कानून वापसी का चुनाव से कोई लेना देना नहीं है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh)में 300 सीटों के साथ जीतेगी। इस कानून की वापसी का निर्णय लेने के बाद ही भारत के किसान खुश नजर आ रहे हैं राकेश टिकैत ने ट्विटर हैंडल के माध्यम से ट्वीट करते हुए कहा है कि जब तक संसद की ओर से कानून की वापसी नहीं होगी। तब तक वह घर वापस नहीं लौटेंगे।