चंदा बाबू के बेटे को जिसने ते%जाब से नहला दिया था,उस शाहबुद्दीन को कोरोना ने सुला दिया आखरी नींद में ?

लोगों को काल के गाल में भेजने वाले बिहार के चर्चित बाहुबली और लोकसभा के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को कोरोना ने काल के गाल में भेज दिया है ऐसी खबर आते ही सोशल मीडिया पर हर कोई इसे तेजी से शेयर करने लगा। राष्ट्रीय जनता दल के महासचिव निराला यादव ने कोरोना संक्रमण से शहाबुद्दीन की मौत की पुष्टि कर दी थी।

राजद महासचिव ने कहा था कि दिल्ली के अस्पताल में पूर्व सांसद की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो गई। उन्हें पिछले महीने 21 अप्रैल को दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां आईसीयू में उनका इलाज चल रहा था। उन्होंने आगे बताया कि दिल्ली से हमारी पार्टी को सूचना मिल गई है।

परन्तु ये खबर आने के कुछ मिनट बाद ही ये साफ़ हो गया की वास्तव में शहाबुद्दीन की मौत नहीं हुई है, ANI ने सिर्फ एक सूचना के आधार पर ही ये खबर चला दी थी।

एएनआई ने डिलीट किया ट्वीट

आपको बता दें कि समाचार एजेंसी एएनआई ने एक ट्वीट के जरिये बाहुबली शहाबुद्दीन के मौत की खबर की पुष्टि है, हालांकि एजेंसी ने बाद में ट्वीट को डिलीट कर लिया और मौत की खबर के लिए माफी मांग ली। समाचार एजेंसी ने ट्वीट डिलीट करते हुए बताया कि राजद के प्रवक्ता और घरवालों के बयान के आधार पर उनकी मौत की खबर आई थी।

इससे पहले तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल ने शहाबुद्दीन की मौत की खबरों को अफवाह करार देते हुए कहा था कि शहाबुद्दीन का गंभीर हालत में अस्पताल में इलाज चल रहा है। तिहाड़ जेल प्रशासन ने सोशल मीडिया पर चल रही शहाबुद्दीन की मौत की खबरों को खारिज कर दिया।

गौरतलब है कि तिहाड़ जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे बाहुबली शहाबुद्दीन को पिछले महीने 21 अप्रैल को ही दिल्ली के DDU अस्पताल में कोरोना संक्रमित होने के बाद भर्ती किया गया था। आपको बता दें कि शहाबुद्दीन के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज है। तिहाड़ से पहले वह बिहार के भागलपुर और सीवान की जेल में भी लंबे समय तक रह चुके है। साल 2018 में जमानत मिलने के बाद वह जेल से बाहर आए थे, लेकिन जमानत रद्द होने के कारण उन्हें वापस जेल जाना पड़ा।