टॉप 5 में शामिल होकर भारत ने रच दिया इतिहास, देखें रैंकिंग..

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) हमारे देश को उस स्तर तक पहुंचा चुके हैं, जिसके बारे में कोई सोचा भी नहीं होगा। अब भारत (India) के गिनती 5 सबसे मशहूर देशों में होने लगी है। जिसमें हमारा देश बीते कई वर्षों से शामिल नहीं हो पा रहा था। इस खबर के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आखिर 5 मशहूर देशों में अन्य कौन-कौन से देश हैं। सिर्फ इतना ही नहीं हम आपको भारत के साथ ही साथ कई अन्य देशों के बारे में भी जानकारी देने वाले हैं। आइए आपको पूरी जानकारी विस्तार से बताते हैं।

एशिया के सबसे ताक तवर देशों की सूची में भारत हुआ शामिल

एशिया (Asia) के सबसे ताक तवर देशों में भारत (India) को शामिल किया गया है। भारत इस सूची में चौथे स्थान पर है। सिर्फ इतना ही नहीं इसको लेकर अब देश विदेश में चर्चा होने लगी है। व्यापार को लेकर इंडो पेसिफिक (Indo-Pacific) में 26 देशों और क्षेत्रों में चौथा स्थान दिया गया है। आपको बता दें कि इस सूची में पाकिस्तान (Pakistan) बहुत ही पीछे है। वहीं दूसरी तरफ इस सूची में शामिल कई अन्य देश के नागरिक भी अब भारत को ताक तवर समझने लगे हैं।

अमेरिका से बराबरी करने के लिए तैयार है भारत

आपको बता दें कि हाल ही में लोवी इंस्टीट्यूट एशिया पावर इंडेक्स 2021 (Lowy Institute Asia Power Index 2021) जारी किया गया है। इसमें कुल 26 देश शामिल है। कुल 26 देशों में भारत (India) को चौथा स्थान दिया गया है। सबसे प्रथम स्थान पर इस सूची में अमेरिका (America) आता है। द्वितीय स्थान पर चीन (China) है। तीसरे स्थान पर जापान (Japan) का नंबर आता है। चौथे स्थान पर हमारा देश भारत है। इसके बाद रूस (Russia), ऑस्ट्रेलिया (Australia), दक्षिण कोरिया (South Korea), सिंगापुर (Singapore), इंडोनेशिया (Indonesia) और थाईलैंड (Thailand) है।

कोविड की वजह से नहीं आ पाया प्रथम स्थान पर

रिपोर्ट के द्वारा इस बात की जानकारी दी गई है कि अगर हमारे देश में कोविड का आगमन नहीं होता तो आज हमारा देश इस सूची में प्रथम स्थान पर होता। सिर्फ इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को लेकर भी कई तरह की बातें कही गई है। इसमें शामिल कई देश के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  की तारीफ की है। तारीफ करने के साथ ही साथ अब अमरीका समेत कई देशों के नागरिक भारत (India) को एक ताक तवर देश के रूप में देखने लगे हैं।