कोरोना के कारण बिहार की स्थिति बद से बदत्तर, इलाज के लिए सेना से मांगी मदद..

कोरोना के कारण बिहार की स्थिति बद से बदत्तर: कोरोना की दूसरी लहर ने देश में कोहराम मचा रखा है, फिलहाल बिहार में महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे हालात बेकाबू तो नहीं हुए है मगर बिहार में सरकारी चिकित्सा व्यवस्था ने अभी से ही चरमरा गई है। बिहार सरकार ने कोरोना पीड़ितों के इलाज के लिए सेना से मदद मांगी है। सेना से तत्काल 50 डॉक्टरों की मांग की गई है ताकि कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा सके।

500 बेड के अस्पताल को शुरू करने के लिए सेना से मांगी मदद

पहले से ही लचर बिहार की चिकित्सा व्यवस्था पर जैसे ही थोड़ा सा दबाव बढ़ा एकदम से चिकित्सा व्यवस्था धराशाई हो गई। अब बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने मीडिया को बताया है कि राज्य सरकार ने सेना से मदद मांगी है। प्रधान सचिव ने बताया कि राज्य सरकार बिहटा में कोरोना का अस्पताल शुरू करना चाहती है। इसके लिए डॉक्टरों की जरूरत है। लिहाजा सेना से 50 डॉक्टरों की मांग की गयी है ताकि 500 बेड के अस्पताल को जल्द से जल्द शुरू किया जा सके।

कोरोना रोकथाम में अभी से ही फेल हुई बिहार सरकार

महाराष्ट्र, दिल्ली और पंजाब की तरह बिहार में कोरोना ने अभी तांडव मचाना शुरू नहीं किया है। लेकिन अभी से ही बिहार में सरकारी चिकित्सा व्यवस्था फेल होती हुई नजर आ रही है। बिहार की राजधानी पटना के किसी भी अस्पताल में कोरोना मरीज के लिए बेड उपलब्ध नहीं है। पटना एम्स में बेड पहले से फुल है। जब राजधानी में ऐसे हालात है तो बिहार के बाकी इलाकों में अस्पतालों की सूरत क्या होगी, इसका अंदाजा लगाना कतई मुश्किल नही है। एनएमसीएच में फर्श पर पड़े मरीजों की तस्वीरें आए दिन वायरल हो रही है। पीएमसीएच में भी यही स्थिति है। आलम ये है कि कोरोना का इलाज करने वाले पटना के प्राइवेट अस्पतालों में भी कोई बेड खाली नहीं है।

दूसरी तरफ कोरोना की स्थिति लगातार बद से बदतर होती जा रही है। बिहार में पिछले सात दिनों में 18,466 लोग कोरोना से संक्रमित पाये गये हैं। सूबे में मंगलवार को 93,523 लोगों की जांच हुई जिसमें 4,157 पॉजिटिव पाये गये। मंगलवार को राजधानी पटना से 1205 नए मामले आए। पटना के साथ भागलपुर, गया, जहानाबाद और मुजफ्फरपुर सहित लगभग एक दर्जन जिलों में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है।

सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को भागलपुर के 346, गया के 250, जहानाबाद के 175, मुजफ्फरपुर के 218, सहरसा के 111, सारण के 171 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये। इसी तरह अररिया में 42, अरवल में 43, औरंगाबाद में 77, बांका में 21, बेगूसराय में 93, भोजपुर में 47, बक्सर में 96, दरभंगा में 23, पूर्वी चंपारण में 60, गोपालगंज में 79, जमुई में 25, कैमूर में 25, कटिहार में 26, खगड़िया में 14, किसनगंज में 18, लखीयराय में 40, मधेपुरा में 44, मधुबनी में 45, मुंगेर में 96, नालंदा में 81, नवादा में 83, पूर्णिया में 65, रोहतास में 92, समस्तीपुर में 94, शेखपुरा में 15, शिवहर में 17, सीतामढ़ी में 36, सिवान में 59, सुपौल में 36, वैशाली में 57 और पश्चिमी चंपारण में 87 पॉजिटिव पाये गये हैं।