Parvatmala: पहाड़ी क्षेत्र में रहने वालों के लिए वरदान साबित होगा ये प्रोजेक्ट

Parvatmala: पहाड़ों की गोद में बसे भारत के 18% क्षेत्र में रहने वाले 11% लोगों के लिए पर्वतमाला एक अद्भुत उपहार है।

यह पहला ऐसा प्रोजेक्ट है जो पहाड़ी (Parvatmala) क्षेत्रों के विकास पर केंद्रित है।

1500 करोड़ रुपये के इस विशाल प्रोजेक्ट में रोड, रेल, रोपवे और पर्यटन सुविधाओं का विकास शामिल है।

पर्वतमाला के कई फायदे हैं:
  • आर्थिक विकास:
    • पहाड़ी क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
    • कृषि, पर्यटन, और हस्तशिल्प जैसे उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा।
    • आय में वृद्धि होगी और गरीबी कम होगी।
  • सुगम संपर्क:
    • बेहतर सड़कों, रेलमार्गों और रोपवे से पहाड़ी क्षेत्रों में रहना आसान होगा।
    • पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
    • आपातकालीन सेवाओं तक पहुंच आसान होगी।
  • पर्यावरण संरक्षण:
    • पर्यावरण के अनुकूल परिवहन व्यवस्था से प्रदूषण कम होगा।
    • जंगलों और वन्यजीवों की रक्षा होगी।
    • पहाड़ी क्षेत्रों की नाजुक पारिस्थितिकी तंत्र को बचाने में मदद मिलेगी।
आयुष मंत्रालय के लिए भी Parvatmala एक महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट है। पहाड़ी क्षेत्रों में औषधीय जड़ी-बूटियों की भरमार है।

पर्वतमाला इन जड़ी-बूटियों की खेती को बढ़ावा देने में मदद करेगा।

Parvatmala

के बारे में कुछ मजेदार तथ्य:

  • पर्वतमाला दुनिया का सबसे बड़ा पहाड़ी क्षेत्र विकास प्रोजेक्ट है।
  • पर्वतमाला के तहत 10,000 किलोमीटर से अधिक सड़कों का निर्माण किया जाएगा।
  • पर्वतमाला के तहत 500 से अधिक रोपवे बनाए जाएंगे।
  • पर्वतमाला के तहत 100 से अधिक पर्यटन स्थलों का विकास किया जाएगा।

पर्वतमाला पहाड़ी क्षेत्रों के लोगों के जीवन में बदलाव लाएगा। यह भारत के विकास में एक महत्वपूर्ण योगदान होगा।

ये भी देखें:- पूर्व अमेरिकी राजदूत का दवा, 2030 तक भारत विश्व का सर्वश्रेष्ठ देश बन सकता है

Parvatmala: पहाड़ी क्षेत्र में रहने वालों के लिए वरदान साबित होगा ये प्रोजेक्ट
Parvatmala: पहाड़ी क्षेत्र में रहने वालों के लिए वरदान साबित होगा ये प्रोजेक्ट

अंत में, यह कहना गलत नहीं होगा कि पर्वतमाला पहाड़ों का उत्सव है और भारत का वरदान!