Fact Check- मणिपुर के जंगल में पेड़ों से घिरे फुटबॉल ग्राउंड की हकीकत

सारी दुनिया में फुटबॉल(Football) के दीवाने है। मगर कुछ देश ऐसे भी है, जहाँ पर फुटबॉल से ज्यादा क्रिकेट(Cricket) को लेकर दीवानगी है। ऐसा ही एक देश हमारा भारत(India) भी है। भारत में क्रिकेट को लेकर अलग ही दीवानगी देखने को मिलती है। यहां क्रिकेट किसी धर्म से कम नहीं है। खिलाड़ियों को भगवान समझा जाता है और फिर क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर(Sachin Tendulkar) भी भारत से ही है। मगर भारत के पूर्वी राज्यों में क्रिकेट से ज्यादा फुटबॉल(Football) लोकप्रिय है। हाल ही में सोशल मीडिया(Social Media) पर जंगल में बने एक फुटबॉल ग्राउंड(Football Ground) की तस्वीरें शेयर की जा रही है और दावा किया जा रहा है कि ये ग्राउंड मणिपुर(Manipur) के उखरूल( Ukhrul) का है।

दावा- यूरोप का नहीं मणिपुर के उखरूल का है, फुटबॉल ग्राउंड

कुछ ट्विटर और फेसबुक यूज़र्स ने पेडों से घिरे एक बेहद ही खूबसूरत फुटबॉल ग्राउंड की तस्वीरों को पोस्ट किया। सोशल मीडिया पर किये जा रहे दावों के मुताबिक यह फ़ुटबॉल ग्राउंड मणिपुर के उखरूल का है। @biswajitroy2009 नाम के ट्वीटर यूज़र्स ने ट्वीट किया “यह सुंदर फुटबॉल ग्राउंड यूरोप का नहीं बल्कि मणिपुर के उखरुल का है। बहुत ही सुंदर!” इस ट्वीट को यह आर्टिकल लिखे जाने तक 3000 से ज्यादा लाइक मिल चुके थे।

फेसबुक पर भी कुछ ऐसे ही पोस्ट

फेसबुक पर भी पेड़ो से घिरे फुटबॉल ग्राउंड की खूबसूरत तस्वीरों के साथ यहीं दावा किया गया था। इस तरह के कई पोस्ट देखने हमें देखने को मिला। कुछ पोस्ट के स्क्रीनशॉट नीचे दिए गए है।

Manipur Football Ground

Also Read:- UP: मिलिए सबसे कम उम्र की जिला पंचायत अध्यक्ष से..

फ़ैक्ट चेक- मणिपुर में पेड़ों से घिरे फुटबॉल ग्राउंड की हकीकत

सोशल मीडिया पर शेयर हो रहे बेहद खूबसूरत फुटबॉल ग्राउंड की तस्वीर देखने और उसके साथ किये जा रहे दावे को पढ़ने के बाद O News की एंटी फेक न्यूज़ टीम ने सच जानने के लिए अपनी पड़ताल शुरू की। हमारी टीम ने सबसे पहले गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया तो हुबहू यही फ़ोटो हमें कई वेबसाइट्स पर देखने को मिली। इसके बाद हमारी टीम ने गूगल के ऑटो जेनेरेटेड की-वर्ड्स पर ध्यान दिया। गूगल के ऑटो जेनेरेटेड की-वर्ड्स में “रूस मास्को फुटबॉल ग्राउंड” सजेस्ट किया। आगे टीम ने “रूस मास्को फुटबॉल ग्राउंड” कीवर्ड के साथ गूगल पर सर्च किया। इस सर्च के साथ दूध का दूध और पानी का पानी हो गया। यह फुटबॉल ग्राउंड वाकई में रूस में है।

Manipur football Ground

रूस के मॉस्को का है फुटबॉल ग्राउंड

गूगल के ऑटो जेनेरेटेड की-वर्ड्स से जब ये साफ हो गया कि पेड़ो से घिरा खूबसूरत फुटबॉल ग्राउंड मणिपुर(Manipur) के उखरूल(Ukhrul) का नहीं बल्कि रूस के मॉस्को का है। इसके बाद हमारी एंटी फेक न्यूज़ टीम ने इस ग्राउंड से जुड़ी कुछ और जानकारी इकट्ठा करना शुरू किया। ‘मीडियम’ पर एक लेख से हमें जानकारी मिली कि फुटबॉल ग्राउंड की तस्वीर मेश्कर्शी पार्क की है। जिसे मॉस्को में फ़ॉरेस्ट बीच के नाम से भी जाना जाता है। इस वेबसाइट पर यही तस्वीर हमें कई ऐंगल से देखने को मिली।

Football Ground

गूगल मैप्स ने भी फ़ुटबॉल ग्राउंड को मॉस्को में दिखाया

हमारी टीम ने गूगल मैप्स पर भी पेड़ो से घिरे फ़ुटबॉल ग्राउंड को ढूंढा। पड़ताल में पता चला कि 2017 में इस तस्वीर को गूगल मैप्स पर अपलोड किया गया है। गूगल मैप्स में इस ग्राउंड का नाम ‘फ़ॉरेस्ट सॉकर फील्ड’ है। मेश्कर्शी पार्क से यह 2 किलोमीटर से भी कम दूरी पर स्थित है। इसके अलावा शटर स्टॉक पर भी हमें इस ग्राउंड की कई तस्वीरें देखने को मिली।

football ground

ये है सच्चाई

इस पड़ताल से ये साफ हो गया कि जंगल में पेड़ो से घिरा फ़ुटबॉल ग्राउंड मणिपुर के उखरूल का नहीं, बल्कि रूस के मॉस्को का है। फ़ुटबॉल ग्राउंड की तस्वीर सही है, मगर उसके साथ किया जा रहा दावा पूरी तरह गलत है।