Fact Check- कथावाचक देवी चित्रलेखा के बुर्का पहने तस्वीर के पीछे की हकीकत क्या है?

इंटरनेट के इस दौर में झूठ को इस तरह से सच बनाकर परोसा जा रहा है कि लोग गुमराह हो जाते है। फेसबुक (Facebook), ट्विटर (Twitter), इंस्टाग्राम (Instagram) व्हाट्सएप (Whatsapp) और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर किसी तस्वीर या खबर को इस तरह से शेयर किया जाता है कि लोग उसे ही सच मान बैठते है। ऐसा ही एक मामला अभी हाल में देखने को मिल रहा है। कथावाचक देवी चित्रलेखा (Devi Chitralekha) की बुर्का पहने एक तस्वीर सोशल मीडिया(Social Media) पर शेयर हो रही है। इस तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि उन्होंने एक मुस लमान युवक से शादी की है जो पहले उनका ड्राइवर था।

फेसबुक पर किया जा रहा उनकी शादी का दावा

बेहद कम उम्र में लाखों फॉलोवर्स बनाने वाली हरियाणा की कथावाचक देवी चित्रलेखा (Devi Chitralekha) की बुर्का पहनें एक तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि उन्होंने अपने ड्राइवर से शादी की है, जो मुस लमान है। एक फेसबुक यूजर ने पोस्ट किया, “मोहतरमा चित्रलेखा का शौहर सही पढ़ा आप ने शौहर कभी चित्रलेखा का ड्राईवर था और मु स्लिम भी है। शादी के बाद इसने अपना नाम माधव राज रखा। ताकि कथा बेंचने में कोई दिक् कत न हो और धंधा आराम से चलता रहे। ऐसे लोगों का हिंदू धर्म से बहिष्कार करें।”

Devi Chitralekha

O News की एंटी फेक न्यूज़ टीम ने शुरू की पड़ताल

सोशल मीडिया पर घूमते इस तस्वीर पर जब O News की निगाह पड़ी। तो हमने इस तस्वीर की हकीकत जानने के लिए पड़ताल शुरू की। हमारी एंटी फेक न्यूज़ टीम ने पाया कि शेयर कि जा रही तस्वीर कथावाचक देवी चित्रलेखा की नहीं है।

बॉडी मॉडल की चेहरा चित्रलेखा का, सॉफ्टवेयर से तैयार की तस्वीर

चित्रलेखा बताकर शेयर की जा रही तस्वीर फोटोशॉप या डाक्टर्ड है। इस तस्वीर को किसी सॉफ्टवेयर के जरिये बनाया गया है। वास्तव में यह एक बुर्का नशीं मॉडल की फोटो है। जिसमें कथावाचक देवी चित्रलेखा का चेहरा अलग से जोड़कर इस तस्वीर को तैयार किया गया है।

यें है सच्चाई

हमारी टीम ने फर्जी तस्वीर को पहचान लेने के बाद, उसी फर्जी तस्वीर को रिवर्स सर्च किया तो हमें एक फैशन ब्लॉग पर यहीं तस्वीर देखने को मिली। ये फैशन ब्लॉग मु स्लिम महिलाओं के परिधान से संबंधित है। ब्लॉग पर साफ देखा जा सकता है कि एक मॉडल ने वही बुर्का पहना हुआ है। जो चित्रलेखा की फर्जी तस्वीर में है। इतना ही नहीं दोनों फ़ोटो में पीछे का बैकग्राउंड भी एक ही है। हमारी टीम ने और एक बात पर ध्यान दिया, दोंनो तस्वीरों में दीवार पर बना वॉलपेपर भी एक ही है। इससे ये साफ हो गया कि इस मॉडल की तस्वीर में कथावाचक चित्रलेखा का चेहरा लगाकर फर्जी तस्वीर बनाई गई है। हमारी टीम को एक फ्रांसीसी ई- कॉमर्स वेबसाइट पर भी देखने को मिली। जहाँ पर ये ड्रेस 47.99 यूरो यानी तकरीबन चार हजार रुपये में बिक रही है। पड़ताल में साफ हो गया कि कथावाचक चित्रलेखा का बुर्का पहनने का दावा पूरी तरह गलत है।

Devi Chitralekha

Also Read:- 13 जुलाई को जया किशोरी का जन्मदिन,जानिये कितना कमाती हैं और कहां करती हैं खर्च…

 देवी चित्रलेखा का अपने ड्राइवर से शादी का दावा गलत

अब हमारी टीम ने उनकी शादी से जुड़ी जानकारी जुटाई। हमारी टीम को विभिन्न सूत्रों से पता चला कि देवी चित्रलेखा की शादी किसी मुस लमान से नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ के माधव तिवारी से हुई थी। जो कान्यकुब्ज ब्राह्मण हैं। इससे पहले भी उनकी मु स्लिम के साथ शादी की अफ वाह उड़ाई गई थी। तब देवी चित्रलेखा के ऑफिसियल फेसबुक एकाउंट से पोस्ट करके अफ वाहों का खं डन किया गया था।

उस पोस्ट में लिखा था, “देवी जी का विवाह न किसी मुस लमान से हुआ है, और न ही वह कोई ड्राइवर है। दिनांक 23 मई 2017 को गौसेवा धाम हॉस्पिटल के ही पावन प्रांगण में देवी चित्रलेखा जी का विवाह बिलासपुर, छत्तीसगढ़ के कश्यप गोत्रीय’ कान्यकुब्ज ब्राह्मण परिवार में श्री अरुण तिवारी जी के सुपुत्र श्री माधव तिवारी जी के साथ हिंदू रीति-रिवाज़ों के साथ संपन्न हुआ।

Devi Chitralekha

फ़ैक्ट चेक का निष्कर्ष

हमारी पड़ताल में कथावाचक देवी चित्रलेखा के बुर्का पहनने और अपने मु स्लिम ड्राइवर से शादी करने का दावों को पूरी तरह से गलत पाया है।