29.3 C
New York
Friday, July 19, 2024

Buy now

Fact Check- दीवाली पर ली गई सीएम योगी की फोटो के साथ कैसे जुड़ गई मनगढ़त कहानी!

अभी हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया है। इस मंत्रिमंडल विस्तार में सबसे ज्यादा 7 मंत्री उत्तर प्रदेश से बनाये गए है। ज्ञात हो कि 2022 में यूपी में विधानसभा चुनाव(UP Assembly Election 2022) होने है। इसको चुनाव के नजरिये से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। यूपी में चुनावी माहौल तो अभी से बन गया है। इस बीच यूपी के CM योगी आदित्यनाथ की एक बच्चे के साथ फोटो सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है। इस फोटो के साथ एक भावुक संदेश भी जोड़ दिया गया है।

फ़ोटो और उसके साथ जुड़ा दावा

सीएम योगी की एक बच्चे के साथ फोटो सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है। इस फोटो के साथ एक भावुक दावा भी किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि सीएम योगी को हाल ही में काशी(Kashi) में मिले इस बेसहारा बच्चे को देख तरस आ गया। सीएम योगी ने बच्चे को अपना भांजा बना लिया। इतना ही नहीं उन्होंने बच्चे की पढ़ाई-लिखाई और पालन पोषण की पूरी जिम्मेदारी उठाने का आश्वासन दिया।

दावे को सच मानते हुए लोग कर रहे पोस्ट

इस फोटो को शेयर करते हुए एक फेसबुक यूजर ने लिखा,”कल काशी यात्रा में योगी ने एक बच्चे को रो ते हुए देखा। वह बच्चे के पास गए और कारण पूछा। बच्चे ने कहा कि मेरे माता-पिता अब इस दुनिया में नहीं रहे। मैं मामा के साथ रह रहा था, कल वह भी चल बसे। योगी ने कहा “बेटा आज से मैं तुम्हारा मामा।” सीएम योगी ने डीएम को आदेश दिया कि जब तक बच्चा बड़ा नहीं होता और उसे नौकरी नहीं मिलती, तब तक वे सीएम फंड से उसके भोजन और शिक्षा का ध्यान रखें।

CM Yogi

O News की एंटी फेक न्यूज़ टीम की पड़ताल

सोशल मीडिया(Social Media) पर शेयर होते हुए जब ये फोटो O News के पास पहुँची तो O News की एंटी फेक न्यूज़ टीम ने इस फोटो और उसके साथ किये जा रहे दावे की जांच-पड़ताल शुरू की। हमारी टीम ने पाया कि सोशल मीडिया पर शेयर हो रही बच्चे के साथ सीएम योगी(CM Yogi) की फोटो न तो काशी(Kashi) की है और न ही अभी हाल-फिलहाल की है। ये फोटो साल 2019 की है। जब योगी आदित्यनाथ दिवाली(Diwali) पर वनटांगिया समुदाय(Vantangiya Community) के लोगों से मिलने के लिए गोरखपुर(Gorakhpur) की तिनकोनिया बस्ती में गए थे। फोटो के साथ किया जा रहा दावा भी पूरी तरह से गलत है।

Also Read:- BSP सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस को दिखाया आईना, कह दी ये बड़ी बात..

ये है सच्चाई

फ़ोटो को रिवर्स सर्च करने पर यही फ़ोटो हमें ‘हिंदुस्तान’ की 27 अक्टूबर 2019 की एक रिपोर्ट में मिली। इस रिपोर्ट के अनुसार सीएम योगी ने वनटांगिया समुदाय के लोगों के साथ तिनकोनिया नाम की बस्ती में दिवाली मनाई थी। इस दौरान उन्होंने बच्चों को उपहार भी दिए थे। हमारी टीम ने आगे और पड़ताल की तो हमें पंजाब केसरी की एक रिपोर्ट मिली। दीवाली के अवसर की सीएम योगी की उसी बच्चे के साथ कुछ और फ़ोटो भी मिले। यहां पर हमें एक अलग एंगल से उसी बच्चे की सीएम योगी के साथ एक और फोटो मिली। आपको बता दें कि वनटांगिया एक विशेष आदिवासी समुदाय है। योगी आदित्यनाथ सीएम बनने से पहले से इस समुदाय के साथ दीवाली मनाते आये है।

CM Yogi

फैक्ट चेक- फोटो सच्ची दावा झूठा

हमारी टीम की पड़ताल में ये साफ हो गया कि फ़ोटो सही है, मगर पुरानी है। 2019 के दीवाली के समय की फोटो को अभी का बताकर शेयर किया जा रहा है। फोटो के साथ जो काल्पनिक कहानी जोड़ कर दावा किया जा रहा है, वह पूरी तरह से गलत है।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles