Fact Check- ओवैसी के समर्थन में नहीं आये इतने लोग, बांग्लादेश की है फोटो

यूपी में विधानसभा चुनाव(UP Assembly Election) को लेकर तैयारियां तेज हो गई है। बिहार चुनाव(Bihar Election)में अच्छा परफॉर्मेंस करने के बाद ओवैसी(Asaduddin Owaisi) की नजर अब यूपी पर है। जनसंख्या की दृष्टि से यूपी देश का सबसे बड़ा राज्य है। यूपी में अल्पसंख्यक समुदाय की आबादी भी अच्छी खासी है। इसलिए AIMIM चीफ ओवैसी यूपी में डेरा डाले हुए है। इस बीच सोशल मीडिया पर विशाल जनसमूह दिखाते हुए एक तस्वीर इस दावे के साथ शेयर की जा रही है कि गाजियाबाद(Ghaziabad) के उत्तर प्रदेश गेट पर AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के स्वागत के लिए लोग इकट्ठा हुए है।

कई सोशल मीडिया यूज़र्स इस दावे के साथ कर रहे पोस्ट

कई सोशल मीडिया यूज़र्स इस तस्वीर को पोस्ट और शेयर कर रहे है। इसके साथ दावा कर रहे है कि गाजियाबाद के उत्तर प्रदेश गेट पर ओवैसी के स्वागत के लिए लोग इकट्ठा हुए है।

Bangladesh

बांग्लादेश की फ़ोटो को यूपी का बताया जा रहा

सोशल मीडिया पर शेयर होते हुए जब ये तस्वीर हमारे पास पहुँची तो O News की एंटी फेक न्यूज़ टीम ने इसकी पड़ताल शुरू की। शेयर हो रही फ़ोटो को हमने रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें एक वीडियो मिला। वीडियो के डिस्क्रिप्शन से पता चला कि शेयर की जा रही तस्वीर बांग्लादेश के चटगाँव की है। इस वीडियो को 2019 में यूट्यूब पर अपलोड किया गया था। इसके बाद हमारी टीम ने शेयर की जा रही तस्वीर से वीडियो के कुछ फ्रेम्स को मिलाया। जिसमें हमें कई समानताएं देखने को मिली।

Bangladesh Photo

फ़ोटो पर लगे वॉटरमार्क से खुली ओवैसी की पोल

पड़ताल के दौरान हमारी टीम को बांग्लादेश वाली फ़ोटो पर ‘Sakib Chowdhury’ वॉटरमार्क दिखाई दिया। टीम ने फेसबुक पर इस नाम के यूजर को ढूंढा और उसकी प्रोफाइल को देखा। हमने पाया कि यूजर ने ईद से जुड़ी और भी तस्वीरें पोस्ट की है। इससे साफ हो गया कि शेयर की जा रही तस्वीर बांग्लादेश की है। हमारी टीम के हाथ 12 नवंबर 2019 को प्रकाशित हुए बांग्लादेश के इंग्लिश न्यूजपेपर Daily Sun लगा। अखबार में भी ईद की फोटो मिली। जो शेयर की जा रही फोटो से मिलती-जुलती है।

Also Read:- CM हिमंता बिस्वा सरमा ने विधानसभा में पेश किया एक नया विधेयक, शुरू हुई चर्चा

फ़ैक्ट चेक का परिणाम

हमारी पड़ताल से ये साफ हो गया कि सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही फ़ोटो यूपी की नहीं बल्कि बांग्लादेश की है। फोटो के साथ किया जा रहा दावा कि गाजियाबाद के उत्तर प्रदेश गेट पर AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के स्वागत के लिए लोग इकट्ठा हुए है। ये भी पूरी तरह से गलत है। ओवैसी के प्रोपो गेंडा की पोल खुल गई है।