हिरासत में लिए गए पीटीसी नेटवर्क के एमडी, भगवंत मान के ‘पल’ की खोली थी पोल!

पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद वहां की राजनीति में भी तेजी आ गई है । पीटीसी नेटवर्क के प्रेसिडेंट और एमडी रबींद्र नारायण (PTC TV MD Rabindra Narayan) को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक फीमेल कंटेस्टेंट का आरोप है कि उनके साथ शोषण हुआ है। एक ‘मिस पंजाब’ कंटेस्टेंट ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी, जिसको लेकर पंजाब पुलिस ने उन्हें बुधवार (6 अप्रैल, 2022) तड़के सुबह उनके गुरुग्राम स्थित आवास से पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। शिकायतकर्ता ने बताया कि ‘मिस पंजाब’ कॉन्टेस्ट के दौरान पीटीसी स्टाफ के एक सदस्य ने उसे जबरदस्ती एक कमरे में बंद कर दिया और उसका शोषण किया।

कंटेस्टेंट ने लगाए गंभीर आरोप

कंटेस्टेंट ने यह भी आरोप लगाया है कि चैनल द्वारा हर साल कराने जाने वाले ब्यूटी कॉन्टेस्ट की आड़ में लड़कियों का शोषण किया जाता है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, PTC नेटवर्क पर यह आरोप भी है कि चैनल में मिस पंजाबी कॉन्टेस्ट के नाम पर भोली-भली लड़कियाँ बुलाई जाती थीं और फिर बड़े-बड़े लोगों से उनका यौन शोषण करवाया जाता था।

https://twitter.com/Saffron_power/status/1511625977775808517?t=MHkJ9q1LgbeXlSPCJQpvJA&s=19

पीटीसी नेटवर्क ने एमडी को हिरासत में लेने के बाद इसे कुछ नेता सियासी रंजिश बता रहे है। उधर, पीटीसी के एमडी ने आरोप लगाया है कि यह जाँच मीडिया पर हमला है। नारायण ने कहा है कि भगवंत मान सरकार पर मीडिया की आवाज दबाने का आरोप लगाते हुए इसे राजनीति से प्रेरित कदम बताया। पीटीसी चैनल के प्रवक्ता ने संवाददाताओं से कहा कि इस मामले में गठित एसआईटी पहले ही हमारे एमडी रबींद्र नारायण का बयान दर्ज कर चुकी है और एमडी ने भी जाँच में पूरा सहयोग किया था। जानकारी के मुताबिक नारायण को आज उनके गुरुग्राम स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया था, जबकि उनके खिलाफ मोहाली में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। कथित तौर पर, पंजाब पुलिस इस मामले में एक और संदिग्ध की तलाश कर रही है, जबकि अधिकारियों ने इसमें शामिल बड़े रैकेट की भूमिका की पहचान करने के लिए गहन जाँच शुरू कर दी है।

‘पुल’ पर पीटीसी की रिपोर्ट, भगवंत मान का आया नाम

आप जानते ही होंगे कि 31 मार्च, 2022 को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। अरविंद केजरीवाल के साथ एक इंटरव्यू में मान ने सांसद के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान 1.80 करोड़ रुपए के कोटेशन के मुकाबले सिर्फ 6 लाख रुपए में पंजाब में एक पुल बनाने के बारे में हास्यास्पद दावे किए थे। स्थानीय समाचार चैनल पीटीसी न्यूज ने पुल को कवर करने के लिए एक रिपोर्टर को वहाँ भेजने का फैसला किया।
पीटीसी ने मान के दावों की पोल खोलते हुए उनकी धज्जियाँ उड़ा दी थीं। चैनल ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि संगरूर जिले के दिर्बा गाँव में जलमार्ग के ऊपर एक पुल की बजाए एक कंक्रीट पावर स्लैब बिछाया गया था।

https://twitter.com/Saffron_power/status/1511625977775808517?t=MHkJ9q1LgbeXlSPCJQpvJA&s=19

रिपोर्ट के मुताबिक यह भी पता चला है कि पीटीसी के एमडी रबींद्र नारायण की गिरफ्तारी चैनल द्वारा भगवंत मान के कथित झूठे दावों को उजागर करने के कुछ दिनों बाद हुई है। पीटीसी टेलीविजन नेटवर्क का स्वामित्व शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के पास है।