18.4 C
New York
Monday, June 17, 2024

Buy now

जावेद अख्तर ने फिर दिया बयान, कहा अफगानिस्तान की महिलाएं….

अफगानिस्तान तथा तालिबान (Taliban) मुद्दे पर अभिनेता से लेकर राजनेता तक बयान देते रहे हैं। इसी क्रम में गायक जावेद अख्तर (Javed Akthar) भी कुछ दिनों पहले तालिबान को लेकर एक ऐसा बयान दिया था। जिसके बाद लोग उन्हें नसीहत देते दिख रहे थे। वहीं कुछ लोग जावेद अख्तर को जवाब भी दे रहे थे। जावेद अख्तर समय-समय पर देश दुनिया के अलग-अलग मुद्दों पर अपनी राय रखते रहते हैं। यही वजह है कि वह मीडिया में चर्चा का विषय बने रहते हैं। बीते दिनों उन्होंने एक बार फिर तालिबान को लेकर कुछ ऐसा कहा जिसे जानना आपको बेहद जरूरी है। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

तालिबान सरकार अफगानिस्तान की महिलाओं के साथ सही नहीं कर रहा-जावेद अख्तर

बीते दिनों जावेद अख्तर ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से ट्वीट करते हुए लिखा था कि तालिबान सरकार अफगानिस्तान के साथ उचित नहीं है। क्योंकि वह लड़कियों तथा महिलाओं को आगे जाने के लिए प्रे रित नहीं करता। वर्तमान समय में अगर किसी सरकार की सोच इस तरह की है तो यह संभव है कि बहुत जल्दी ही वह सरकार सत्ता से जाने वाली है। आपको बताते चलें कि जावेद अख्तर ने हाल ही में तालिबान को लेकर बयान देते हुए कहा था कि RSS और तालिबान एक समान है।

यह भी पढ़ें:- करीना के साथ सैफ अली खान और तैमूर ने भगवन गणेश की मूर्ति के सामने जोड़े हाथ

जावेद अख्तर ने तालिबान मुद्दे पर किया ट्वीट

जावेद अख्तर अपने आधिकारिक ट्विटर (Twitter) हैंडल के माध्यम से अफगानिस्तान तथा तालिबान मुद्दे पर ट्वीट कर लिखते हैं कि “तालिबान के प्रवक्ता ने दुनिया को बताया है कि महिलाएं मंत्री बनने के लिए नहीं बल्कि घर पर रहने और बच्चे पालने के लिए होती हैं। लेकिन दुनिया के तथाकथित सभ्य और लोकतांत्रिक देश तालिबानी से हाथ मिलाने को तैयार हैं। कितनी श र्म की बात है।”

सोशल मीडिया यूजर्स दे रहे जवाब

सोशल मीडिया यूजर्स जावेद अख्तर को जवाब देते दिख रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कुछ सोशल मीडिया यूजर्स जावेद अख्तर के विचारों से सहमत भी है। एक सोशल मीडिया यूजर्स ने जावेद अख्तर के ट्वीट का जवाब देते हुए कहते हैं कि आप किस तरह से तालिबान और और RSS को एक समान समझे हैं। वहीं दूसरी तरफ एक अन्य यूजर जावेद अख्तर से सवाल करते हुए कहते हैं कि आखिर सऊदी अरब में कितनी महिलाएं मंत्री पद पर विराजमान है। एक यूजर ने लिखा की तालिबान इ स्लाम धर्म को मानता है। इसलिए अगर जड़ ही सही नहीं हो तो उसका परिणाम कैसे सही हो सकता है।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles