15.5 C
New York
Sunday, May 19, 2024

Buy now

IPS Thounaojam Brinda बनने जा रही राजनेता!

10 फरवरी 2022 से विधानसभा चुनाव (Assembly Election 2022) शुरू होने वाले हैं। इस बार पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होगा। उन्हीं में से एक राज्य मणिपुर (Manipur) मे चुनाव होने जा रहे हैं। इसी बीच मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (N. Biren Singh) पर आ रोप लगाकर सुर्खियों में आने वाली आईपीएस (IPC) अधिकारी (Officer) खूब चर्चा में चल रही है। थोनाउजम बृंदा (Thounaojam Brinda) ने भी राजनीति में आने का मन बना लिया। इसके लिए उन्होंने पुलिस विभाग की नौकरी भी छोड़ दी है। एक इंटरव्यू (Interview) के दौरान उन्होंने कहा जल्द बतायेगी। कौन सी पार्टी से चुनाव में आयेंगी। आपको बताते हैं विस्तार से पूरी खबर।

थोनाउजम बृंदा पुलिस विभाग में काम करती है

थोनाउजम बृंदा (Thounaojam Brinda) पुलिस विभाग (Police Department) में कार्य करती है। वह आईपीएस अफसर (IPS Officer) कुछ महीने पहले मणिपुर (Manipur) के सीएम एन बीरेन सिंह (CM N. Biren Singh) पर ड्र ग्स त स्करी करने आ रोप लगाए गए थे। थोनाउजम बृंदा जब नारकोटिक्स एंड अफेयर्स ऑफ बोर्डर ब्यूरो (Narcotics and Affairs of Border Bureau) में तै नात थीं। उस समय वही ड्र ग्स केस की तहकीकात कर रही थी। तब उन्होंने सीधा मुख्यमंत्री (Chief Minister) पर ही आ रोप लगाई कि उन्होंने ड्र ग्स मामले को रफा-दफा करने का द बाव बनाया था।ड्र ग्स का यह मामला 28 करोड़ रुपये से ज्यादा का बताया गया था।

मुख्यमंत्री पर दबाव बनाने का लगाया था

आपको बता दें कि आईपीएस महिला (IPS Woman) ने एकड्र ग्स त स्कर को पकड़ा था। जिसके बाद बड़े-बड़े नेताओं तथा मुख्यमंत्री उसको बचाने के लिए बहुत कुछ इसकी शि कायत आईपीएस ने कोर्ट (Court) में कर दी थी और मुख्यमंत्री पर द वाब बनाने का आ रोप लगाया था। उन्होंने इसकी जानकारी फेसबुक (facebook) पर लिख कर दी थी। इसके बाद आईपीएस बृंदा पर 2 साल पहले 2020 में लोकडाउन (Lockdown) प्रोटोकॉल (Protocal) तो ड़ने का आ रोप लगा था। इस वक्त भी मीडिया में खूब चर्चित रही थीं।

Also Read:- अजमेर की दरगाह की इस वीडियो की पुलिस क्यों कर रही है तहकीकात? जानिए पूरा मामला…

आईपीएस बृंदा की मणिपुर में कब पोस्टिंग हुई

आज 43 साल की बृंदा 4 बच्चों की मां है। वह अपने अनोखे अंदाज और काम करने के लिए अक्सर चर्चा में रही हैं। इतना ही नहीं उन्हें पुलिस विभाग में बहादुरी और ईमानदारी के लिए कई बार सम्मानित भी किया जा चुका है। उन्होंने कई बड़े ड्र ग रैकेट्स का पर्दाफाश किया है। साल 2013 में आईपीएस वृंदा मणिपुर में आई थी। इसके बाद उन्होंने क्षेत्र में कार्य शुरू कर दिया। जिसके बाद जल्दी उनका तबादला भी कर दिया गया था उन्होंने एक बात साफ तौर पर कह दिया था कि नई पोस्टिंग जॉइन नहीं करेगी। इससे अच्छा तो वह नौकरी छोड़ना पसंद करेंगी।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles