Tokyo Olympics: रवि दहिया के दांव से चरोंखाने चित हुआ कजाखिस्तानी पहलवान, छूटने के लिए कि ये शर्मनाक हरकत…

Tokyo Olympics: तोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) में भारत के खिलाड़ी बहुत अच्छे से खेल रहे है। मेडल जीतने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। तोक्यो ओलंपिक में बुधवार का दिन भारत(India) के लिए बहुत अच्छा रहा। भारतीय खिलाड़ियों ने विभिन्न खेलों में शानदार खेल दिखाया। पहलवान रवि कुमार दहिया(Ravi Kumar Dahiya) ने भारत के लिए स्वर्ण पदक(Gold Medal) जीतने की उम्मीद जगा दी है। रवि कुमार दहिया ने 57 किग्रा वर्ग में फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया। मैच जीतने के बाद सोशल मीडिया(Social Meda) पर कुछ फुटेज और एक वीडियो वा यरल हो रहा है। जिसमें कजाखिस्तान(Kazakhstan) का खिलाड़ी मैच के दौरान एक शर्मनाक हरकत करते हुए कैमरे में कै द हो गया। इसके बाद उस पहलवान को जमकर खरी खोटी सुनाई जा रही है।

दांत का टने पर भी रवि दहिया ने नहीं छोड़ी गर्दन

सेमीफाइनल में भारत(India) की तरफ से पहलवान रवि कुमार दहिया(Ravi Kumar Dahiya) और कजाखिस्तान(Kazakhstan) के पहलवान नूरिस्लाम सनायेव(Nurislam Sanayev)  के बीच मैच था। रवि कुमार दहिया ने बहुत अच्छा खेल दिखाया मगर कजाखिस्तान के पहलवान में बिल्कुल भी खेल भावना देखने को नहीं मिली। एक समय कजाखिस्तानी पहलवान मैच में 9-7 से आगे चल रहे थे। इसके बाद रवि कुमार दहिया ने जबरदस्त दाव लगाते हुए कजाखिस्तान के पहलवान नूरिस्लाम सनायेव की गर्दन को अपनी भुजाओं में दबा लिया। कजाखिस्तानी पहलवान रवि कुमार दहिया की पकड़ से छूट नहीं सका। रवि ने विक्ट्री बाई फॉल के जरिए अपनी जीत सुनिश्चित कर ली। हालांकि मैच के दौरान कजाखिस्तानी पहलवान ने खेल भावना का उल्लंघन किया। कजाखिस्तान का पहलवान रवि दहिया को अपने ऊपर से हटाने के लिए लगातार उनके हाथ को दांत से का टता रहा, लेकिन भारतीय पहलवान ने उसकी गर्दन नहीं छोड़ी।

Also Read:- PV Sindhu ने गजब का स्मैश लगाया फिर जोड़े हाथ वीडियो वायरल….

वीरेंद्र सहवाग ने कजाखिस्तान के पहलवान की हरकत पर जताई निराशा

भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग ने कजाखिस्तान के पहलवान की हरकत पर निराशा जताते हुए कहा कि यह कितना गलत है। लेकिन इससे हमारे रवि दहिया के जोश को दबा नहीं सका। उसने हाथ पर दांत से का टा शर्मनाक कजाखस्तान के हारे हुए नूरिस्लाम सनायेव। गजब रवि, बहुत सीना चौड़ा किया आपने कुश्ती में। आपको बता दें कि दहिया के फाइनल में पहुंचते ही तोक्यो ओलंपिक में भारत का चौथा पदक पक्का हो गया है।