पत्रकार ने योगी आदित्यनाथ से पूछा खुले में नमाज पर आपको दिक्कत क्या? तो मिला ये शानदार जवाब बोले हनुमान चालीसा..

जैसा कि आपको पता है कि उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) में 2022 में विधानसभा के चुनाव होने वाले है। इसी को लेकर देश के सबसे अहम राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने भी 2022 में होने वाले चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। चुनाव आते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ध्यान दे रहे है। क्योंकि अन्य पार्टियों ने भी चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है इसी बीच योगी आदित्यनाथ का बयान खूब सुना जा रहा है। जिसमे योगी आदित्यनाथ ने नोएडा के सेक्टर 65(Noida sec-65) के एक पार्क में न माज पढ़ने पर मना कर दिया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया ट्वीट

योगी आदित्यनाथ ने जब से ये ट्वीट(Twit) करके बताया है उसके बाद से ही उत्तर प्रदेश पुलिस(UP Police) ने भी न माज पढ़ रहे लोगों पर कार्य वाही करना शुरू कर दिया है इंडिया टीवी (India TV) के वरिष्ठ पत्रकार और एंकर रजत शर्मा (Rajat Sharma) जब योगी आदित्यनाथ से पूछते है कि नोएडा में लोग के खुले में न माज से आपको क्या दि क्कत है? इस सवाल पर योगी आदित्यनाथ जबाब देते हुए बोले कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने भी कहा है कि खुले स्थान पर इस तरह का काम नही किया जाना चाहिए।

पार्क में न माज पढ़ना सही नहीं

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा न माज पढने की सही जगह म स्जिद में होती है। मुझे अच्छा नही लगता कि आज किसी पार्क में जाकर न माज़ पढ़ेंगे तो कल हिंदू भी किसी चौराहे पर जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करेगा।” इतना ही नहीं योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर कोई हिंदू सड़क पर हनुमान चालीसा पड़ता है। तो क्या उसे आप मना कर सकते हैं लेकिन रोक नही सकते क्योंकि उसका भी अधिकार है।

Also read:-यमुना एक्सप्रेसवे के 20 ब्लैक स्पॉट पर लगेंगे स्पीड कैम, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर मिलेगी ऐयर ambulance की सुविधा…

खुले स्थान पर सभी को हो रो क

इसलिए हम नहीं चाहते कि देश का माहौल अच्छा हो न माज के लिए म स्जिद में बनाई गई हैं। हम मु स्लिम भाइयों का सम्मान करते हैं। वह म स्जिद में न माज पढ़ सकते हैं। मुख्यमंत्री (Chief Minister)ने कहा कि अपनी उपासना और आस्था को एक स्थान दिया जाना चाहिए खुले स्थानों पर सभी के लिए रो क है ऐसा नहीं है कि सिर्फ यह रोक मु स्लिम लोगों के लिए ही लगाई गई हो।