26 C
New York
Tuesday, July 16, 2024

Buy now

IPS असीम अरुण ने थामा बीजेपी का दामन…

उत्तर प्रदेश  (Uttar Pradesh) में 2022 के विधानसभा चुनाव (Asembly Election) 10 फरवरी से शुरू होने जा रहे हैं। सभी राजनीतिक पार्टियां तैयारी में लग गई है। इसी के चलते देखा जा रहा है। बहुत से लोग बीजेपी में शामिल हो रहे हैं। आज ऐसे ही व्यक्ति के बारे में बात करने जा रहे हैं। असीम अरुण (Aseem Arun) की जो कानपुर के पुलिस आयुक्त  (Police Commissioner) रहे। आज भाजपा (BJP) में शामिल हुए हैं। एक आईपीएस अफसर (IPS Officer) थे। अपने पद से इस्तीफा दे दिया। आइए विस्तार से बताते आपको पूरी खबर।

असीम अरुण बीजेपी में हुए शामिल

रविवार को लखनऊ (Lucknow) स्थित पार्टी के कार्यालय (Party Office) में बीजेपी (BJP) की सदस्यता ग्रहण कर असीम अरुण (Aseem Arun) बीजेपी में शामिल हो गए हैं। इस मौके पर बीजेपी (BJP) प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) और केंद्रीय मंत्री (Central Minister) अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) भी मौजूद रहे। बीजेपी ज्वाइन करने के बाद असीम अरुण (Aseem Arun) ने कहा कि मैं आज बहुत खुश हूं और संतुष्ट हूं। मैं बीजेपी की सोच को आगे बढ़ाएंगे और उन्होंने पार्टी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुझे पार्टी में शामिल होने का अवसर दिया।

असीम अरुण ने सैफुल्ला को किया इस दुनिया से अलविदा

आपको बता दें कि असीम अरुण जी एक ऑपरेशन में आईएसआईएस (ISIS) के सैफुल्लाह (Saifullaha) का एन काउंटर किया था। सैफुल्लाह कानपुर (Kanpur) का रहने वाला था। जो लखनऊ के ठाकुरगंज (Thakurganj) में छिपा हुआ था। यह मिशन लगभग 12 घंटे तक चला था। सैफुल्लाह के घर से आईएसआईएस का झंडा भी मिला था। इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार (UttarPradesh) ने असीम अरुण को उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) का महानिदेशक (DGP) बना दिया गया था।

Also Read:- UP Election 2022: 93 चुनाव पराजित हो चुका 75 साल का यह शख्स!

असीम अरुण कौन हैं?

यूपी (UP) के बदायूं जिले में जन्मे असीम अरुण पिता भी एक आईपीएस अफसर थे। असीम अरुण उत्तर प्रदेश के महानिदेशक भी रहे थे। इनकी माता का नाम शशि अरुण (Shashi Arun) था। जो जानी-मानी लेखिका (Writer) और समाजसेविका (Socialworker) थी। असीम अरुण 1994 बैच के आईपीएस अधिकारी (IPS Officer) है। भारतीय पुलिस सेवा में आने का बाद वह कई जिलों में तैनात रहे। टिहरी गढ़वाल, उत्तराखंड से लेकर बलरामपुर, हाथरस (Hathras), सिद्धार्थ नगर, अलीगढ़ (Aligarh), गोरखपुर (Gaurakhpur) और आगरा (Agra) में बतौर पुलिस अधीक्षक (SP) एवं उप पुलिस महानिरीक्षक (IG) के पद पर उन्होंने सेवाएं दी।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles