Rajsthan Chief Minister: क्या CM पद की रेस से आउट हुए बाबा बालकनाथ? सोशल मीडिया पोस्ट दे रहा बड़ा संकेत

Rajsthan Chief Minister:  राजस्थान में मुख्यमंत्री के नाम को लेकर अब तक सस्पेंस बरक़रार है। यह सवाल लगातार लोगों के मन में उठ रहा है की आखिर राजस्थान के CM की गद्दी कौन संभालेगा? लेकिन CM पद के दावेदार में एक नाम ऐसा है जो विधानसभा चुनाव के दौरान काफी चर्चा में रहा। यह नाम है बाबा बालकनाथ का जिनको राजस्थान का योगी भी कहा जाता है। बाबा बालकनाथ CM के पद के रेस में सबसे आगे नजर आ रहे थे। मगर कुछ समय पहले उन्होंने एक ऐसा बयान दिया जिसे सुनकर ऐसा लग रहा है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री पद के रेस से वे आउट हैं।

Rajsthan Chief Minister: बाबा बालकनाथ का बयान

बता दें कि बाबा बालकनाथ साल 2019 में बीजेपी के टिकट पर अलवर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से सांसद चुने गए। साल 2023 के विधानसभा चुनाव के बाद बाबा बालकनाथ का नाम काफी चर्चा में रहा है। CM के पद की रेस में बाबा बालकनाथ सबसे आगे नजर आ रहे थें। मगर 9 दिसंबर को बाबा बालकनाथ ने खुद ऐसा कुछ कह दिया जिससे यह लग रहा है की वे CM के पद के रेस से आउट हो गए हैं। बाबा बालकनाथ ने अपने ऑफिसियल एक्स अकाउंट पर लिखा, “पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में जनता-जनार्धन ने पहली बार सांसद व विधायक बना कर राष्ट्रसेवा का अवसर दिया। चुनाव परिणाम आने के बाद से मीडिया व सोशल मीडिया पर चल रही चर्चाओं को नजर अंदाज करें। मुझे अभी प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में अनुभव प्राप्त करना है।”

कहा जाता है राजस्थान का योगी

बालकनाथ उसी नाथ संप्रदाय के साधु हैं, जिस संप्रदाय के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। बाबा बालकनाथ रोहतक के मस्तनाथ मठ के महंत हैं। 29 जुलाई 2016 को, महंत चांदनाथ ने एक समारोह में बालकनाथ योगी को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था। इस समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बाबा रामदेव भी शामिल हुए थे। 2023 के चुनाव में बाबा बालकनाथ ने अलवर लोकसभा क्षेत्र की तिजारा विधानसभा सीट से जीत हासिल की। उन्होंने कांग्रेस नेता इमरान खान को करीब 10,707 मतों से हराया। उनके समर्थक उन्हें राजस्थान का CM बनाने की मांग कर रहे हैं। बाबा बालकनाथ को ‘राजस्थान का योग’ कहा जाता हैं।

यह भी पढ़ें: Gautam Gambhir And Sreesanth: गंभीर से लड़कर श्रीसंत को लगा तगड़ा झटका,जारी हुआ लीगल नोटिस