WHO की सलाह, कोरोना की दूसरी लहर से बचना है तो क्या खायें और क्या नहीं? जाने…..

देश में कोरोना की दूसरी लहर से हाहाकार मच रखा है। कोरोना संक्रमण के आंकड़े रोज रिकॉर्ड स्तर को छूते है। ऑक्सीजन और बेड जैसे मूलभूत सेवाओं का भी देश में आभाव पड़ गया है। कोरोना से खुद को सुरक्षित रखना सरकार से ज्यादा आपकी खुद की जिम्मेदारी है। कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनना और बार-बार हाथ धोना जितना जरूरी है, उतना ही संतुलित भोजन करना भी आवश्यक है।

इस समय हमें अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत करना है, इसके लिए हमें ये जरूरी है कि क्या खाना है और क्या नहीं? ताकि हम कोरोना की दूसरी लहर से खुद को सुरक्षित रख पाये। आज हम आपको WHO द्वारा सुझाव गए कुछ चीजों के बारे में बताने जा रहे है, जिनका सेवन आप कोरोना की दूसरी लहर से बचने के लिए कर सकते है।

नमक और चीनी कम खायें

वैसे तो नमक के बिना भोजन में स्वाद नहीं आता है, मगर ज्यादा नमक का सेवन आपको बीमार भी कर सकता है। इसलिए बेहद जरूरी है कि आप रोजाना 5 ग्राम से ज्यादा नमक का सेवन न करें। भोजन के अलावा हम दिनभर में कई नमकीन चीजों का भी उपभोग करते हैं तो इस बात का भी ध्यान रखें। इसके अलावा बहुत ज्यादा मीठा खाने से भी आपको कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए शुगर वाले ड्रिंक्स, जूस, कोल्ड ड्रिंक आदि के अलावा मीठी चीजें खाने से परहेज करें।

पानी और तरल पदार्थों का अधिक सेवन करें

हेल्थ एक्सपर्ट्स की सलाह है कि मौजूदा समय में हमें पानी ज्यादा पीना चाहिए और तरल पदार्थ ज्यादा लेना चाहिए। ऐसा करने से खून, शरीर में मौजूद न्यूट्रिएंट्स यानी पोषक तत्वों को हर एक अंग तक पहुंचा पाता है और साथ ही शरीर में जमा टॉक्सिन्स यानी विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालने में मदद मिलती है। इसके अलावा पानी पीने से शरीर का तापमान भी कंट्रोल में रहता है। गर्मी के मौसम में पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने से आप डिहाइड्रेशन के शिकार हो सकते है। पानी की कमी से आप अन्य घातक बीमारियों की चपेट में आ सकते है।

फल और सब्जियों ज्यादा खायें

मौसम के अनुसार आने वाले फलों और सब्जियों को अपनी रोजना की खुराक में जरूर शामिल करना चाहिए। इन मौसमी फलों और सब्जियों में विशेष पोषक तत्व होते है। इसके अलावा सेब, केला, अमरूद. स्ट्रॉबेरी, मौसंबी, अनानास, पपीता, संतरा- ये कुछ ऐसे फल हैं जिन्हें रोजाना आपको जरूर खाना चाहिए। सब्जियों में आप हरी शिमला मिर्च, लहसुन, अदरक, नींबू, धनिया, ब्रोकली, हरी मिर्च- इन सब्जियों को भी अपने भोजन में शामिल करें। साथ ही में दालें और फलियां भी आपकी सेहत के लिए जरूरी हैं।

साबुत अनाज को बनाये भोजन का हिस्सा

आटा, ओट्स, ज्वाइर या मकई का आटा, बाजरे का आटा, ब्राउन राइस- इस तरह के साबुत अनाज को भी अपने भोजन का हिस्सा बनाएं। साथ ही अपनी क्षमता के अनुसार बादाम, नारियल और पिस्ता भी रोजाना जरूर खाएं।

हफ्ते में कितनी बार नॉन वेज खाएं

नॉन वेज भोजन प्रोटीन का बहुत अच्छा माध्यम होता है। आप चाहें तो हफ्ते में एक या दो बार रेड मीट खा सकते हैं और चिकन, अंडा- इस तरह की पोल्ट्री वाली चीजें हफ्ते में 2 से 3 बार खा सकते हैं। जो लोग नॉन वेज भोजन नहीं करते है, वह प्रोटीन से भरपूर अन्य वस्तुओं का सेवन जरूर करें।

संक्रमण से बचने के लिए ऐसे पकाएं भोजन

जितना जरूरी पौष्टिक भोजन करना होता है, उतना ही जरूरी है कि भोजन को साफ-सफाई से और उचित तरह से पकाया जाएं।

1.फल और सब्जियों को खाने से पहले अच्छी तरह से धो लें। आप चा हें तो उन्हें कुछ देर के लिए गर्म पानी में भी छोड़ सकते हैं।

2. पका हुआ भोजन और कच्चा भोजन अलग-अलग रखें ताकि कच्चे भोजन में मौजूद रोगाणु पके भोजन तक न पहुंच पाए।

3. पके हुए और कच्चे भोजन के लिए अलग-अलग बर्तन और चॉपिंग बोर्ड का इस्तेमाल करें।

4. सब्जियों को ओवरकुक न करें वरना उनमें मौजूद विटामिन और मिनरल्स नष्ट हो जाते हैं।

Note- (आप विशेषज्ञ या डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इन वस्तुओं का सेवन करें। O News इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।)