ब्रिटेन में छाया बिहार का लाल! प्रधानमंत्री बनते ही Rishi Sunak ने दिया खास तोहफा..!

देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद की धरती, सिवान की जीरादेई में जन्मे बिहार के लाल ने ब्रिटेन में अपना जलवा बिखेरने का काम किया है. जीरादेई प्रखण्ड के जमापुर गांव निवासी प्रज्ज्वल पाण्डेय(Prajjawal Pandey) भारतीय मूल के ब्रिटेन के पहले प्रधानमंत्री बने ऋषि सुनक (Rishi Sunak) की कोर कमिटी में शामिल किए गए हैं. उनकी इस उपलब्धि ने सिर्फ सिवान जिले का ही नहीं, बल्कि पूरे बिहार का नाम रौशन किया है.

इसी वर्ष ऋषि सुनक जब पहली बार प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बने थे, तभी बिहार के प्रज्ज्वल को उनकी पार्टी ने मुख्य अभियान टीम में शामिल किया था. अब ऋषि सुनक जब ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बने हैं तो प्रज्जवल को उनकी कोर कमिटी में शामिल किया गया है.

गांव से है ख़ास लगाव

वैसे तो प्रज्ज्वल बिहार के पड़ोसी राज्य झारखंड के सिंदरी में रहते थे, लेकिन उनका जन्म सिवान जिले के जीरादेई प्रखण्ड के जमापुर में हुआ था. वह राजेश पाण्डेय के पुत्र हैं, जिनकी गांव में अच्छी खासी पकड़ भी है. आज भी प्रज्ज्वल का अपने गांव से खास लगाव रहता है.

दिया था दमदार भाषण

महज 16 साल की उम्र में प्रज्ज्वल पाण्डेय(Prajjwal Pandey) ब्रिटेन के कंजरवेटिव पार्टी के सदस्य के रूप में शामिल हुए थे. इससे पहले वह 2019 में ही UK यूथ पार्लियामेंट के निर्वाचित सदस्य चुने गए थे. युवा संसद सदस्य के तौर पर ब्रिटेन की संसद में पहली बार उन्होंने भाषण दिया था, जिसके बाद वहां के लोग भी उनके फैन हो गए थे. उनकी बहन प्रांजल पाण्डेय(Pranjal Pandey) कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से MBBS की पढ़ाई कर रही है.

अपनों को आज भी नहीं भूले प्रज्जवल

ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक (Rishi Sunak) के काफी करीबी कहे जाने वाले प्रज्ज्वल पाण्डेय (Prajjwal Pandey) के साथियों, परिजनों का कहना है कि वह शुरू से काफी होनहार छात्र रहे हैं. उनके रिश्तेदार विनीत कुमार द्विवेदी ने बताया कि इतने बड़े पद पर रहने के बाद भी जब भी वह भारत या कभी कभार अपने गांव आते हैं तो पहले की तरह ही लोगों से मिलते हैं. उनके रिश्तेदारों, सगे-संबंधियों का कहना है कि प्रज्ज्वल के भारतीय मूल के ब्रिटेन (Britain) प्रधानमंत्री की टीम में शामिल होना, ये हम लोगों के लिए और हमारे क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत गर्व की बात है.