26 C
New York
Tuesday, July 16, 2024

Buy now

ताहिर खान, अमित बनकर पहुंचा Agniveer में भर्ती होने,देश की सुरक्षा के लिए चिंता का विषय…!

हाल ही में केंद्रीय सरकार(Central Government) अग्निपथ योजना लेकर आई थी जिसका पुरे देश में काफी विरोध हुआ था साथ ही विपक्ष ने भी इस योजना को लेकर केंद्रीय सरकार पर जमकर निशाना साधा था. विरोध प्रदर्शन हुआ लेकिन सरकार ने भी ये साफ़ कर दिया कि ये योजना किसी भी कीमत पर वापस नहीं होगी. साथ ही इसमें तमाम फायदे भी बता गए थे. अब जबकि इस योजना को लेकर सेना में भर्तियां शुरू हो गई है ऐसे में इसको लेकर एक नई साजिश का खुलासा हुआ है.

दरअसल, भारतीय सेना कुमाऊं रेजिमेंटल सेंटर (KRC) मुख्यालय में अग्निवीर सैनिक भर्ती में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जवान लड़कों के पकड़े जाने से मिलिट्री और पुलिस इंटेलिजेंस काफी सतर्क हैं. अब इंटेलिजेंस इस बात के सबूत जुटाने में जुट गई है कि कहीं फर्जी सर्टिफिकेट्स (Certificates) से संदिग्ध जवान सेना का अंग न बन जाएं और भविष्य में देश की सुरक्षा के लिए खतरा न बन जाएं. इसके साथ ही यह भी पता लगाने की कोशिश जारी है कि इसके पीछे देश विरोधी संगठनों का हाथ तो नहीं है, जो जवान लड़कों के कंधों पर बंदूक रखकर देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने की सजिश में शामिल हैं.

रानीखेत में अग्निवीर भर्ती में पकड़ा गया ताहिर खान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलीपुरा बुलंदशहर का रहने वाला है. ताहिर खान ने अग्निवीर बनने के लिए फर्जी सर्टिफिकेट्स में अपना नाम अमित और निवासी हल्द्वानी का रहने वाला है ये बताया था.

फ़ौज में साल 2016 से की जा रही घुसपैठ की कोशिश

साल 2016 से कई युवा फर्जी दस्तावेज बनाकर फौज में घुसपैठ की नाकाम कोशिश लगातार कर रहे हैं. 2016 में इंटेलिजेंस ने चम्पावत जिले के बनबसा में हुई फौज की भर्ती में 16 युवाओं को फर्जी दस्तावेजों के साथ पकड़ा था. ये सभी लड़के उत्तर प्रदेश के थे. साल 2019 में सात युवाओं को फर्जी दस्तावेज के साथ पकड़ा गया था. इसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लड़के भी शामिल थे. वहीं साल 2021 में केलाखेड़ा का एक लड़का रानीखेत में फर्जी डाक्यूमेंट्स(Documents) के साथ पकड़ा गया था.

इंटेलिजेंस की राडार पर राशन कार्ड वाला

ताहिर खान को राशन कार्ड और बिजली का बिल देने वाला शख्स भी पुलिस इंटेलिजेंस की जांच के दायरे में आ चुका है. बुधवार को इंटेलिजेंस टीम ने बनभूलपुरा में जाकर साबुत इक्कठा किए. और पता लगाया कि आरोपी ताहिर खान किस घर में ठहरा हुआ था. साथ ही राशन कार्ड वाले परिवार से उसके क्या संबंध है इसे भी पता लगाया जा रहा है.

पुलिस इंटेलिजेंस को भी किया गया अलर्ट

डीजीपी(DGP)अशोक कुमार ने बताया कि देश की सुरक्षा के खिलवाड़ करने वालों को अब बिल्कुल भी नहीं बख्शा जाएगा. पुलिस इंटेलिजेंस को अलर्ट किया गया है. ताहिर के अलावा शहर में फर्जी दस्तावेज बनाने वालों के खिलाफ साबुत जुटाने के लिए आदेश दिए गए हैं.

 

 

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles