Rishi Sunak को अपनों ने ही दिया बड़ा धोखा! ‘सांसदों’ ने खेल दिया बड़ा खेल….

ऋषि सुनक (Rishi Sunak) 28 अक्टूबर यानि को यूनाइटेड किंगडम (UK) के पहले गैर-श्वेत और हिंदू प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेंगे. इस बीच, भारतीय मूल की लेबर सांसदों ने ऋषि सुनक को प्रधानमंत्री बनाए जाने पर सवाल उठाए हैं. बता दें कि मंगलवार को किंग चार्ल्स III(King Charles) के साथ मुलाकात के बाद, 42 साल के ऋषि सुनक ने प्रधानमंत्री के रूप में कार्यभार संभाला. भारतीय मूल की ब्रिटिश सांसद प्रीत कौर गिल (Preet Kaur Gill) ने कहा कि मैं ऋषि सुनक की राजनीति से पूरी तरह असहमत हूं और उनके जनादेश पर गंभीरता से सवाल उठाती हूं, क्योंकि उनके पास ऐसा नहीं है.

भारतीय मूल के सांसद ने ऋषि सुनक का किया विरोध

सांसद प्रीत कौर गिल(Preet Kaur Gill) ने कहा कि ऋषि सुनक(Rishi Sunak) ने इस बारे में कुछ ज्यादा नहीं कहा कि वह प्रधानमंत्री के रूप में क्या करेंगे? जनता यूनाइटेड किंगडम के भविष्य के बारे में सोच रही है, इसलिए हमें आम चुनाव की जरूरत है.

सांसद नदिया ने लगाए आरोप

वहीं, नॉटिंघम ईस्ट की भारतीय मूल की सांसद नादिया व्हिटोम(Nadia Whittome) ने कहा कि ऋषि सुनक(Rishi Sunak) और उनकी पत्नी 730,000,000 पाउंड की संपत्ति पर बैठे हैं. यह किंग चार्ल्स III(King Charles) की अनुमानित संपत्ति का लगभग दोगुना है. इसे याद रखें जब भी वह ‘कठिन निर्णय’ लेने की बात करते हैं, जिसका भुगतान मजदूर वर्ग के लोग करेंगे.

ऋषि सुनक को करना पड़ेगा इन मुश्किलों का सामना

पीएम के रूप में ऋषि सुनक(Rishi Sunak) का पहला काम एक आर्थिक संकट को दूर करना होगा जिसने देश के वित्त को एक अनिश्चित स्थिति में छोड़ दिया है, जिसमें लाखों लोग अपने खाने और बिजली बिलों का भुगतान करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था को संभालने के अलावा, सुनक को अपनी कंजर्वेटिव पार्टी को भी एकजुट रखना है.

हाल ही में ऋषि सुनक(Rishi Sunak) ने 10 डाउनिंग स्ट्रीट आवास के बाहर कहा था कि मैं पूरी तरह से सराहना करता हूं कि चीजें कितनी कठिन हैं और मैं यह भी समझता हूं कि जो कुछ हुआ है उसके बाद विश्वास बहाल करने के लिए मुझे काम करना है.

जान लें कि ऋषि सुनक(Rishi Sunak) 200 साल में ब्रिटेन के सबसे युवा प्रधानमंत्री हैं. वह राजनीति में आने के केवल 7 साल बाद इस पद पर पहुंचे हैं. वह पहले एक निवेश बैंकर और हेज फंड मैनेजर थे. वह अपने दादा-दादी के कारण पूर्व-विभाजन भारत से आने के कारण भारतीय मूल के हैं, हालांकि उनके माता-पिता पूर्वी अफ्रीका में पले-बढ़े थे. वह खुद साउथेम्प्टन में पैदा हुए थे.