गरीब किसान की बेटी ने मेहनत से प्राप्त की 3 करोड़ की स्कॉलरशिप…

आपने बहुत से लोगों के बारे में सुना होगा है कि उन्होंने मेहनत करके किसी अच्छे स्कूल में अपनी जगह बनाई। आज ऐसी ही गांव की लड़की के बारे में बात कर रहे हैं जिसने पूरे भारत (India) का नाम रौशन किया है। इस लड़की का नाम स्वेगा सामीनाथन (Swega Saminathan) है। इस लड़की ने अपनी मेहनत से दुनिया की टॉप 10 यूनिवर्सिटीओं में से एक यूनिवर्सिटी (University) से  स्कॉलरशिप (Scholarship) प्राप्त की है। आइए विस्तार से बताते हैं आपको पूरी खबर।

3 करोड़ की स्कॉलरशिप मिली है स्वेगा समीनाथन को

स्वेगा सामीनाथन(Swega Saminathan) ने अपने माता-पिता के साथ ही साथ पूरे भारत (India) देश का नाम रोशन कर दिया है। इस लड़की ने दुनिया की टॉप 10 यूनिवर्सिटीओं में से एक यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया है। इस यूनिवर्सिटी ने इस लड़की को 3 करोड़ की स्कॉलरशिप (Scholarship) भी दी है। इस यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए यह लड़की 3 साल से बहुत मेहनत कर रही थी, ताकि वह इस यूनिवर्सिटी में दाखिला ले सके।

तमिलनाडु से है स्वेगा समीनाथन

आपको बता दें कि स्वेगा सामीनाथन (Swega Saminathan) के पिता एक किसान है। स्वेगा तमिलनाडु (Tamil Nadu) के इरोड (Erode) जिले के कासी पलायन गांव की रहने वाली हैं। स्वेगा अब आगे की पढ़ाई अमेरिका (America) की प्रतिष्ठित शिकागो यूनिवर्सिटी (Chicago University) में पूरी करेंगी। इसके लिए सामीनाथन को 3 करोड़ की स्कॉलरशिप (Scholarship) दी गई है। इस स्कॉलरशिप को पाने के लिए सामीनाथन ने 3 साल बहुत मेहनत की है। इस स्कॉलरशिप के लिए स्वेगा 14 साल की उम्र से तैयार कर रही है।

Also Read :- Delhi University को लेकर आ रही ये खबर…

शरद सागर ने ट्वीट कर दी जानकारी

आपको पता होगा कि जिस यूनिवर्सिटी (University) में सामीनाथन का दाखिला हुआ है उसी यूनिवर्सिटी को अब तक 90 से अधिक नोबेल पुरस्कार मिल चुके हैं। डेक्सटीरिटी ग्रुप (Dexterity Group) के शरद विवेक सागर (Sharad Vivek Sagar) ने ट्वीट कर लिखा है कि तमिलनाडु के इरोड से 17 वर्षीय स्वेगा को शिकागो यूनिवर्सिटी ने स्वीकार कर लिया है। इसके लिए स्वेगा सामीनाथन को 3 करोड़ की स्कॉलरशिप (Scholarship) भी दी गई है।