11.1 C
New York
Sunday, April 21, 2024

Buy now

परमबीर सिंह ने अपने पास रख लिया था कसाब का फ़ोन ? जानें पूरा मामला…

मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह (Former Commissioner Parambir Singh) को लेकर एक बहुत ही अहम खबर आ रही है। महाराष्ट्र (Maharashtra) में जब से शिवसेना (Shiv Sena) की सरकार बनी है तभी से राष्ट्र के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह चर्चा में बने हुए हैं। परमबीर सिंह के तार अजमल कसाब (Ajmal Kasab) से जुड़े हुए थे। परमबीर सिंह अजमल कसाब से मदद कर रहे थे। इस खबर के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आखिर कैसे परमवीर सिंह अजमल कसाब की मदद कर रहे थे और उन्हें लेकर किस तरह की बातें कही जा रही है। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

परमवीर सिंह कर रहे थे अजमल कसाब की मदद

जैसा कि आपको पता है कि वर्ष 2008 में 26/11 मामला हुआ था। इस मामले में अजमल कसाब (Ajmal Kasab) के साथ ही साथ कई अन्य लोग शामिल थे। जिसमें से सभी लोग इस दुनिया को अलविदा कह गए थे केवल अजमल कसाब ही एक ऐसा व्यक्ति था जो मुंबई पुलिस द्वारा धारा गया था। अजमल कसाब की मदद परमबीर सिंह (Parambir Singh) कर रहे थे। इस बात की जानकारी मुंबई पुलिस के पूर्व एसीपी शमशेर खान पठान (Former ACP Shamsher Khan Pathan) ने दी है।

अजमल कसाब का फोन है परमवीर सिंह के पास

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Former Commissioner Parambir Singh) के पास अजमल कसाब (Ajmal Kasab) का मोबाइल फोन है। शमशेर खान पठान (Shamsher Khan Pathan) ने कहा है कि कसाब के पास से एक फोन मिला था जिसकी मदद से परमबीर सिंह पाकिस्तान (Pakistan) में बैठे लोगों से बातचीत कर रहे थे। अजमल कसाब भी उसी फोन से अपने जानकारों से बातचीत करता था। उन्होंने कहा कि परमबीर सिंह ने कभी भी उस फोन को जांच अधिकारी के पास नहीं दिया। ऑनलाइन भी परमबीर सिंह सबूत को धूमिल कर रहे थे।

Also Read :- कौन है बदरुद्दीन अजमल, क्या करते है कारोबार, जाने असम चनावों से पहले क्यों है सुर्ख़ियों में

शमशेर खान पठान ने लिखा पत्र

शमशेर खान पठान (Shamsher Khan Pathan) पहले भी अधिकारियों को पत्र लिख चुके हैं। हाल ही में उन्होंने 4 पन्नों का पत्र लिखकर मुंबई के मौजूदा पुलिस कमिश्नर को भेजा था। पत्र में उन्होंने मामले की जांच करने की जानकारी दी थी। उन्होंने कहा है कि मामले की जानकारी तत्कालीन कमिश्नर वेंकेटेशम (Commissioner Venkatesham) को भी दी गई थी। लेकिन उन्होंने इस पर कोई भी काम नहीं किया था। आपको बता दें कि शमशेर खान मुंबई पुलिस कमिश्नर को लिखी चिट्ठी में जानकारी देते हुए कहते हैं कि वह साल 2007 से लेकर साल 2011 के बीच वे पाईधूनी पुलिस स्टेशन में सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर के रूप में काम कर रहे थे।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles