जम्मू कश्मीर के कुलगाम में ऑप रेशन: बिहार के मजदूरों की ह त्या करने वाले दो और आ तंकी ढेर..

जम्मू कश्मीर में सेना ने अब आ तंकियों के खा त्मे की पूरी तैयारी कर ली है। पुंछ सेक्टर में जहां बड़ा ऑप रेशन शुरू किया गया है वहीं आज कुलगाम जिले में हुई मु ठभेड़ में दो आ तंक वादी मा रे गए। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के देवसर इलाके में संक्षिप्त गो लीबारी में लश्कर-ए-तैयबा के जिला कमांडर गुलजार अहमद रेशी और एक अन्य आ तंकी को सुरक्षा बलों ने ढेर कर दिया।

बीते 17 अक्टूबर को वानपोह में दो बिहारी मजदूर की ह त्या में यह दोनों आ तंकी शामिल थे। बताया जा रहा है कि इलाके में कुछ और आ तंकी छुपे हो सकते हैं। इससे पहले शोपियां जिले में हुई मु ठभेड़ में लश्कर ए तैयबा के दो आ तंक वादी मा रे गए और सेना का एक जवान शहीद हो गया। अधिकारियों ने बताया कि मु ठभेड़ में दो अन्य सुरक्षाकर्मी घायल हो गए।

Also Read : कश्मीर पर बोले बिना पाकिस्तानियों का खाना हजम नहीं होता…

आदिल अहमद वानी के रूप में की गई पहचान

अधिकारियों के अनुसार, मा रे गए आ तंक वादियों में से एक हाल में हुई उस व्यक्ति की ह त्या में शामिल था जो उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले का रहने वाला था। क्षेत्र में आ तंक वादियों की उपस्थिति की सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने शोपियां जिले के दरगड़ इलाके में घे राबंदी और तलाशी अभियान चलाया। अधिकारियों ने कहा कि आ तंक वादियों ने गो लीबारी करना शुरू कर दिया जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों को जवाबी का र्रवाई करनी पड़ी।

अधिकारियों ने बताया कि लश्कर ए तैयबा का मुखौटा संगठन ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) के दो आ तंक वादियों को मा र गिराया गया है। उन्होंने कहा, “तीन सुरक्षाकर्मी इस अभियान में घा यल हो गए। उनमें से एक ने बाद में यहां स्थित एक अस्पताल में दम तो ड़ दिया।” मा रे गए आ तंक वादियों में से एक की पहचान आदिल वानी के रूप में की गई है जिसने जो 2020 में आ तंकी संग ठन में शामिल हुआ था।

कश्मीर जोन के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने एक ट्वीट में कहा, “मा रे गए एक आ तंक वादी की पहचान आदिल अहमद वानी के रूप में की गई है जो जुलाई 2020 से सक्रिय था। दो सप्ताह में अब तक 15 आ तंक वादियों को मा रा जा चुका है।” कुमार ने कहा कि वानी सगीर अहमद की ह त्या में शामिल था जो उत्तर प्रदेश के सहारनपुर का रहने वाला था।