18.4 C
New York
Monday, June 17, 2024

Buy now

जानिये इन भिखारियों के लग्जरी शौक, भीख मांग कर भी बना जा सकता है अमीर

हमने सड़को पर चलते और घरों के आसपास अक्सर भिखारियों को भीख मांगते हुए देखा है। इन भिखारियों को देखकर शायद इनके प्रति दया की भावना उमड़ पड़ती है इनके कपड़े और रहन-सहन देखकर ऐसा प्रतीत होता है की भगवान ऐसी ज़िंदगी किसी को न दे और आप अपनी जेब से कुछ रूपये इन्हें दे देते हो। ताकि यह थोड़ा सा गुजर बसर कर सके। लेकिन अगर आपको पता लगे की जिसको आपने भीख दी वह भिखारी करोड़ो रूपये में खेलता है, तो आपको कैसा लगेगा? आपके होश उड़ जाएंगे, शायद आप मानने को तैयार ही नहीं होंगे की इन भिखारियों के पास एक आम आदमी की सैलरी से 100 गुना ज्यादा कमाई होती है ।

आज आपको देश के ऐसे पांच भिखारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो भीख मांगकर भी जीवन के सारे आराम फरमा रहे हैं। उनके लिए भीख मांगना कोई मजबूरी नहीं। लेकिन हम आपको इस बात से भी इख़्तिलाह कर देना चाहते हैं कि पूरे देश कुछ ही भिकारी की स्थिति ऐसी है जो ऐश और आराम की ज़िंदगी फार्म रहे हैं। क्योंकि देह के अंदर बहुत ज्यादा भिकारी ऐसे हैं, जो मजबूरी में भीख मांगकर अपने दो वक़्त की रोटी जुटाते हैं। ऐसे में आप इस ख़बर को पढ़ने के बाद आप मायूस मत होना। हमें सभी को सही और ज़रूरतमंद लोगों की मदद हमेशा करनी चाहिए। आइए तो जानते हैं कौन हैं वह देश के पांच भिखारी जो सबसे अमीर हैं…

1. मुंबई के मशहूर भिखारी “भरत जैन”,

भरत जैन को (Bharat jain) देश के सबसे अमीर भिखारियों में गिना जाता है। भरत जैन मुम्बई के मशहूर भिकारी है। फिलहाल आपको फटे-पुराने कपड़ों में अक्सर मुंबई के परेल इलाके में भीख मांगते हुए दिखाई देंगे। क्योंकि ज्यादातर ये परेल इलाके में ही भीख मांगते हैं। अगर हम इनकी कुल संपत्ति की बात करें तो फिलहाल इनके पास दो फ़्लैट मौजूद हैं। जिनमें से एक फ़्लैट की क़ीमत करीब 75 लाख रूपये है। इस तरह से दोनों फ़्लैट की क़ीमत करोड़ों रूपये को भी पार कर जाती है। भरत जैन बताते हैं कि उनकी आमदनी हर महीने 75 हज़ार रूपये के करीब है। जो वह भीख मांगकर कमाते हैं। यह तो सिर्फ भीख मांगकर कमाए गए रुपये है। ऊपर से इनके पास करोड़ों के दो फ्लैट है जिनसे इन्हें किराया भी आता है आमदनी को देखकर आप कह सकते हैं कि इतनी आमदनी तो शायद इन्हें भीख देने वाले लोगों की भी नहीं होती होगी। जितनी भरत जैन भीख मांगकर रोजाना कमा लेते हैं।

2. कलकत्ता की भिखारी “लक्ष्मी”,

कलकत्ता की शहर की मशहूर भिखारी लक्ष्मी भी इसी लिस्ट में शामिल है। लक्ष्मी अमीर भिखारियों में दूसरे नंबर पर आती हैं। लक्ष्मी ने 1964 से भीख मांगने की शुरुआत की तब वह एक 16 साल की बच्ची थी जब उसने भीख मांगना शुरू कर दिया था। भीक मांगते हुए आज उनकी 50 साल की उम्र हो गई है वह आज भी भीख मांगने का ही काम कर रही हैं। जीवन के इस सफ़र में उन्होंने भीख मांगकर ही लाखों रूपये इकठ्ठा किए हैं। वह कहना हैं की भीख मांगने से उन्हें हर रोज़ एक हज़ार रूपये की अमदनी हो जाती है। फिलहाल वह इसी काम से हर महीने 30 हज़ार की कमाई करती हैं। जो कि शायद अगर वह कहीं नौकरी करती तो कभी संभव ना होता। लेकिन भीख मांगकर वह इसे संभव कर रही है।

3. मुंबई की भिखारी गीता,

गीता भी भरत जैन की तरह मायानगरी मुंबई में भीख मांगने का काम करती है। जो कि देश के सबसे अमीर भिखारियों में तीसरे नंबर पर आती है। वह मुंबई के चरनी रोड पर भीख मांगती हैं। फिलहाल गीता मुंबई अपने भाई के साथ रहती हैं। गीता बताती हैं कि भीख मांगकर हर रोज़ वह 15,00 रूपये कमातो है। इस कमाही से वह अपने जीवन की सभी आरामदायक चीजें खरीदती हैं। गीता के पास मुंबई में एक फ़्लैट भी है।

4.चंद्र आजाद

देश के चौथे सबसे अमीर भिखारियों में से एक चंद्र आजाद आज इस दुनिया में नहीं रहे। उनकी मौत का कारण रेल दुर्घटना को माना जाता है रेल दुर्घटना में उनकी मौत हो गई। जब पुलिस उनके परिवार का पता नही लगा पाई तो उनकी संपत्ति तलाशी गई उनके खाते में करीब आठ लाख रूपये जमा मिले। एक भिखारी के खाते में इतने पैसे देख पुलिस भी हैरान रह गई। उनके घर कैश के तौर डेढ लाख रूपये भी रखे मिले। जो कि उन्होंने भीख मांगकर जुटाए थे।

5. बिहार के भिखारी पप्पू,

पप्पू भी देश के उन अमीर भिखारियों में से एक हैं जिन्हें अमीर भिखारियों में गिना जाता है , जो सिर्फ़ नाम-मात्र के भिखारी है। आमदनी के मामले में इनकी बराबरी देश के नौकरी पेशा करने वाले लोग भी नहीं कर सकते। इनकी आमदनी आम आदमी की आमदनी से तीन गुना ज्यादा है जी हां हम पप्पू की बात कर रहे है पप्पू बिहार का रहने वाला है वह बिहार के पटना रेलवे स्टेशन पर भीख मांगने का काम करते हैं। पप्पू बताते हैं कि जीवन में भीख मांगने जैसा काम करना कभी उनका सपना नहीं था। एक बार जब वह रेल यात्रा कर रहे थे तो घटना के चलते उनके पैर में फैक्चर हो गए। इसके बाद वह कभी कोई काम धंधा नहीं कर पाए। क्योंकि पैर के बिना कोई काम करना संभव नहीं था। फिर उन्होने भीख मांगने का पेशा अपना लिया। आज उनके खाते में 1.25 करोड़ रूपये जमा हैं और लगातार वह भीख मांगकर वह इस संपत्ति को आगे बढ़ाते जा रहे हैं।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles