11.1 C
New York
Sunday, April 21, 2024

Buy now

जोगी के रूप में लौटा पति, 22 साल से पत्नी विधवा की तरह जी रही थी जिंदगी……

Jharkhand: भारत साधु संतों का देश रहा है। आज भी भिक्षा मांगते हुए साधु-संत दिखाई देते है। संसारिक मोहमाया से दूर साधु संत देश और समाज की भलाई के लिए काम करते है। झारखंड से एक ऐसी ख़बर आ रही है। जिसको पढ़कर आप सोच में पड़ जाएंगे। झारखंड में एक पत्नी 22 सालों से विधवा का जीवन जी रही थी। अ चानक से उसका पत्नी भिक्षा मांगते हुए उसके सामने आ गया। अब आपके मन में तरह तरह के सवाल आ रहे होंगे कि फिर क्या हुआ? पत्नी ने क्या कहा? पति ने क्या जवाब दिया। इस आर्टिकल में हम इन सभी सवालों के जवाब देंगे।

भिक्षा मांगते हुए 22 साल बाद पत्नी के सामने आया पति

यह मामला झारखंड के कांडी के सेमौरा गांव का है। गांव में भिक्षा मांगते हुए उदय एक साधु के रूप में अपने गाँव अपनी पत्नी से भिक्षा मांगने के लिए आया था। जब वह भिक्षा मांगने के लिए अपनी पत्नी के सामने आया तो 22 साल बाद भी उसकी पत्नी ने पहली नजर में उसे पहचान लिया। पति को देखते ही उसकी पत्नी सविता फु ट फु ट कर रोने लगी। उदय ने अपनी पहचान छुपाने की बहुत कोशिश की। इस सबके बीच गाँव वाले जमा हो गए। जोर देने पर उदय ने स्वीकार कर लिया कि वह सविता का पति है। इसके बाद उसने सविता से भिक्षा देने के लिए कहा, क्योंकि बिना पत्नी से भिक्षा लिए उनकी सिद्धी पूरी नहीं हो सकती थी। उसने अपनी पत्नी को समझाया कि भिक्षा देकर संसारिक जीवन से मुक्त कर दे।

22 साल पहले घर छोड़ चले गया था

22 साल पहले उदय अपनी पत्नी सविता, दो बच्चों और माता-पिता को अकेले छोड़कर अचा नक लापता हो गए। उनकी काफी खोजबीन भी हुई, पर पता नहीं चला कि उदय कहां चले गए। इसके बाद घरवालों ने मान लिया था कि उदय दुनिया में नहीं रहे। इसके बाद सविता अपने मायके चली गई। खेती बाड़ी करने के लिए वह वापस लौटी। वह अकेले ही अपने बच्चों का पालन-पोषण करने लगी। बच्चे भी अपनी जिम्मेदारी समझने लगे।

Also Read:- एक किसान के बेटे ने कर दिया कमाल, बनाया ऐसा रोबोट…..

घरवाले चाहते है जोगी वेश को छोड़े उदय

22 साल बाद जोगी के रूप में लौटे उदय को घर वाले अपने पास ही रखना चाहते है। वह उदय को जोगी के रूप से मुक्त करना चाहते है। इसके लिए लोगों ने बाबा गोरखनाथ के धाम पर यज्ञ और भंडारा कराने के लिए पैसे और अनाज जुटाने शुरू कर दिए हैं। हालांकि, उदय जोगियों के पास लौटने की जिद पर अड़े हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles