राज्यों को केंद्र ने कहा- ऑक्सीजन लाने-ले जाने वाले वाहनों को एम्बुलेंस समझें, बनाए ग्रीन कॉरिडोर

राज्यों को केंद्र ने कहा- ऑक्सीजन लाने-ले जाने वाले वाहनों को एम्बुलेंस समझें, बनाए ग्रीन कॉरिडोर | कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के कारण देश भर में अफरा-तफरी मच गई है। ऑक्सीजन की आपूर्ति को सुनिश्चित करने के लिए केंद सरकार सिंगापुर और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से ऑक्सीजन ले जाने में सक्षम उच्च क्षमता वाले टैंकर आयात करने के लिए बातचीत कर रही है। इसके अलावा ऑक्सीजन की आपूर्ति को बनाएं रखने के लिए केंद्र सरकार ने राज्यों को बंद हो चुके संयंत्रों को फिर से चालू करने के निर्देश दिया है।

अमित शाह ने हालात की समीक्षा की

गृहमंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में बताया गया कि गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने देश में कोरोनो वायरस संबंधी हालात की शुक्रवार को समीक्षा की, जिसके बाद यह कदम उठाया गया है। केंद्र ने अलग-अलग लिखे पत्रों में सभी राज्यों को निर्देश दिया कि वह अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले प्लांटो की सूची तैयार करें और ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति को सुनिश्चित करें।

गृहमंत्रालय ने आगे अपने बयान में बताया कि केंद्र सरकार भारतीय वायुसेना की मदद से सिंगापुर और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से ऑक्सीजन लाने-ले जाने वाले उच्च क्षमता वाले टैंकर भारत में लाने के लिए बातचीत कर रहीं है।

ऑक्सीजन वाहनों के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाएं

राज्यों को लिखे पत्र में गृहमंत्रालय ने कहा कि अभी भी ऑक्सीजन ले जाने वाले वाहनों को रोके जाने की घटनाएं सामने आ रही हैं। गृहमंत्रालय ने राज्यों को निर्देश दिया कि ऑक्सीजन समेत अन्य आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करें।

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने भी सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा कि ऑक्सीजन का आवागमन करने वाले सभी वहनों को एम्बुलेंस समझा जाये और उनकी प्रयाप्त सुरक्षा व्यवस्था की जाये।

ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू और तीव्र रखने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाएं ताकि समय पर ऑक्सीजन को जरूरतमंद अस्पतालों तक पहुचाया जा सके। अजय भल्ला ने राज्यों को गृहमंत्रालय द्वारा दिए गए सुझावों पर तत्काल कदम उठाने और ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए उठाए गए कदमों की रिपोर्ट भेजने की अपील की।