18.4 C
New York
Monday, June 17, 2024

Buy now

राजकुमार शूटिंग के पहले दिन डायरेक्टर को देते थे घटिया सुझाव, अपनी मर्जी से करते थे शूट, खुद बताई वजह..

Raaj kumar used to give bad suggestions to the director on the first day of shooting Director Mehul Kumar told the reason: राजकुमार बॉलीवुड के महान कलाकारों में से एक है। अपने दमदार अदाकारी से दशकों तक उन्होंने बॉलीवुड पर राज किया। फ़िल्म इंडस्ट्री में वह अपनी मर्जी से काम करने के लिए जाने जाते थे। वह कभी भी साइड रोल करना पसंद नहीं करते थे। राजकुमार समय के बहुत पाबंद थे मगर वह अपनी बेरुखी के लिए भी फिल्मी गलियारे में जाने जाते थे। अदाकारी की दुनिया में अक्सर पहले शूट पर डायरेक्टर एक्टर को परखता है लेकिन राजकुमार शूटिंग के पहले दिन उल्टा डायरेक्टर को ही परखते थे।

इसके लिए वह किसी भी फ़िल्म के फर्स्ट शॉट की शूटिंग से पहले फ़िल्म के डायरेक्टर को घटिया सुझाव देते थे। यदि डायरेक्टर ने उनके घटिया सुझाव को मान लिया तो फिर वह पूरे फ़िल्म की शूटिंग अपने ही हिसाब से करते थे। यदि डायरेक्टर ने उनके सुझाव को मानने से इंकार कर दिया तो फिर वह डायरेक्टर के हिसाब से फ़िल्म में काम करते थे।

इसका जिक्र उन्होंने निर्देशक मेहुल कुमार से किया था। आपको बता दें कि मेहुल कुमार के साथ राजकुमार ने कई फिल्में की जिसमें 1987 में आई फ़िल्म ‘मरते दम तक’ भी शामिल थी। अन्य डाइरेक्टरों की तरह इस फ़िल्म की पहली शूटिंग पर उन्होंने मेहुल को भी परखा था।

मेहुल कुमार ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था, ‘फ़िल्म के फर्स्ट शॉट के लिए मैंने जब उनको समझाया तो उन्होंने पूछा कि ऐसा शॉट क्यों ले रहे हो? सीधा मेरे पैरों का क्लोज अप है और शक्ति कपूर आकर मेरे पैरों में गिरता है। मैंने राजकुमार जी को समझाया कि इसके पहले जो सीन लिया है, इससे उसकी कटिंग बहुत अच्छी बनती है। तो उन्होंने कहा ठीक है फिर पहला शॉट ओके हुआ।’

मेहुल कुमार ने आगे बताया कि, ‘सीन की जब शूटिंग खत्म हुई तो राजकुमार जी ने लंच ब्रेक में मुझे अपने कमरे में बुलाया। उन्होंने मुझे गले लगाया और बताया कि देखो, ये मेरी आदत है कि पहले दिन शूटिंग पर मैं डायरेक्टर को कुछ भी घटिया सुझाव देता हूं। अगर वह मेरा कहना मान लेता है तो पूरी फिल्म में अपने हिसाब से करवाता हूं। अगर वो नहीं मानता तो पूरी फ़िल्म मैं डायरेक्टर के हिसाब से करता हूँ।

राजकुमार जी का जितना बड़ा ग्लैमर था, उतना ही उनके बेरुखी के किस्से है। डाइरेक्टरों की छोटी- छोटी बात पर खफा होकर राजकुमार फ़िल्म को छोड़ देते थे। जिस जंजीर फ़िल्म ने अमिताभ बच्चन को सुपरस्टार बना दिया। दरअसल यह फ़िल्म पहले राजकुमार को ऑफर हुई थी। जंजीर के निर्देशक प्रकाश मेहरा जब फ़िल्म की कहानी सुनाने राजकुमार के घर पहुँचे तो वह डायरेक्टर से बड़ी बेरुखी से पेश आए थे। उन्होंने जंजीर फ़िल्म में काम करने से सिर्फ इसलिए माना कर दिया क्योंकि उन्हें प्रकाश मेहरा के पास से आती तेल की गंध पसंद नहीं आई।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles