21.1 C
New York
Saturday, June 15, 2024

Buy now

जानिये Dhirubhai Ambani के परिवार से जुड़ी वो बात जिससे अभी तक सब थे अनजान! इस वजह से आयी थी ‘Ambani Brothers’ के रिश्ते में दरार…

Dhirubhai Ambani  भारत के सबसे बड़े उद्योगपति थे। उन्होंने Reliance Industry की स्थापना की थी। जो इंडस्ट्री आज पूरे देश में सबसे बड़ी इंडस्ट्री में शामिल है। धीरूभाई अम्बाई ने उद्योग जगत में अपना नाम कमा कर पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन किया था। उन्हें देश-विदेश में बिज़नेस टाइकून माना जाता था। लेकिन एक सफल उद्योगपति होने के साथ-साथ वे एक काफी पारिवारिक व्यक्ति भी थे। उन्होंने कभी भी अपने परिवार में रिश्तों के बंधन को ढीले नहीं पड़ने दी। धीरूभाई का एक संयुक्त और हँसता-खेलता परिवार था। लेकिन कहते हैं की उनकी गलती से उनके बेटों ( Mukesh Ambani- Anil Ambani) में दरार आ गयी।


इस बात पर चूंके धीरूभाई!

Dhirubhai Ambani  के दो बेटे हैं Mukesh Ambani और Anil Ambani। जब तक धीरूभाई जिंदा थे, मुकेश और अनिल के काम एकदम अलग थे। रिलायंस के बंटने से पहले धीरूभाई के छोटे बेटे यानी Anil Ambani कंपनी का चेहरा होते थे। उनके जिम्‍मे दुनियाभर से कंपनी के मेगा प्रोजेक्‍टों के लिए फंड जुटाने की जिम्‍मेदारी थी। पॉलिटिक्‍स से लेकर मीडिया और बैंक तक अनिल के जोरदार कॉन्‍टैक्‍ट्स थे। इनके सहारे वो चुटकियों में कंपनी के लिए पैसे का इंतजाम कर देते थे। वहीं दूसरी तरफ धीरूभाई और Mukesh Ambani  का फोकस रिलायंस के साम्राज्‍य को बढ़ाने पर होता था। वो अंदर ही अंदर रिलायंस को बड़ा करने में लगे थे। कुल मिलाकर जिम्‍मेदारियां और काम बिल्‍कुल सॉर्टेड थे। कहीं किसी तरह की अड़चन नहीं थी।

Read More: Mukesh Ambani अब Pepsi और Coca Cola पर गिराएंगे गाज, फिर लॉन्च होगी लोगों की पसंदीदा रही ये सॉफ्ट ड्रिंक


Dhirubhai Ambani ने नहीं बनायीं थी वसीयत!

2022 में धीरूभाई का निधन हो गया था। धीरूभाई बिना वसीयत छोड़े दुनिया से चल बसे। इसके बाद सबकुछ वही हुआ जो अक्‍सर सामान्‍य घरों में होता है। दोनों भाइयों में कारोबारी साम्राज्‍य के लिए संघर्ष शुरू हो गया। रिलायंस पर कब्‍जा पाने के लिए मुकेश और अनिल में जंग छिड़ गई।

Dhirubhai Ambani
2005 में बंटी Dhirubhai Ambani  की 30 वर्षों की मेहनत!

धीरूभाई अंबानी ने 30 साल में जिस कारोबारी साम्राज्‍य को खड़ा किया था उस पर बंटवारे बादल घिर गए थे। जिसके बाद साल 2005 में धीरूभाई अम्बानी की पत्नी कोकिलाबेन अम्बानी को बंटवारे के लिए बीच में लाया गया। उन्‍होंने दोनों भाइयों के बीच रिलायंस के कारोबारी साम्राज्‍य को बांटने का एलान किया। Mukesh Ambani के हिस्‍से में पेट्रोकेमिकल्‍स सहित तेल और गैस, रिफाइनिंग और टेक्‍सटाइल्‍स आए। वहीं, Anil Ambani के पास फाइनेंशियल सर्विसेज, पावर, एंटरटेनमेंट और टेलीकॉम कारोबार गए। 2020 में Anil Ambaniने अपनी नेटवर्थ जीरो होने का ऐलान किया। वहीं, Mukesh Ambani आज भी दुनिया के शीर्ष अमीरों की सूची में बने हुए हैं।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles