ब्लड कैंसर का खतरा बढ़ा सकते है ये शैंपू ! US के मार्केट से वापस मंगाए सारे प्रोडक्ट्स

यूनिलीवर (Unilever) एक बड़ा ब्रांड जो की डेली यूज़्ड प्रोडक्ट्स को बेचता है। हाल ही में यूनिलीवर ने अपने कई लोकप्रिय उत्पादकों को मार्केट से वापिस मंगाया है। जिसमे Dove सहित एयरोसोल ड्राई शैम्पू सहित कई और लोकप्रिय ब्रांड को मार्केट से वापिस लिया है। ये एक्शन अमेरिकी मार्केट में लिया गया है।

Dove,Tresemme जैसे शैम्पू ब्रांड्स में मिला बेंजीन !

कंपनी के कई शैम्पू ब्रांड्स में बेंजीन नाम का खतरनाक केमिकल पाया गया है। जिससे कैंसर होने का खतरा है। यूनिलीवर ने Dove, Nexxus, Suave, Tigi और Tresemme एयरोसोल ड्राई शैम्पू समेत कई ड्राई शैम्पू को अमेरिकी बाजार से माँग लिया है। फ़ूड एंड ड्रग एडमिंस्ट्रेशन की वेबसाइट पर पोस्ट किये गए नोटिस के अनुसार- रिकॉल में नेक्सेस, सुवे, ट्रेसमे और टिगी जैसे ब्रांड्स शामिल है। जो की रॉकहोलिक और बेड हेड ड्राई शैम्पू बनाते है।

Unilever ने 2021 में भी वापिस मंगाए थे प्रोडक्ट्स

इससे पहले भी यूनिलीवर (Unilever) ने अक्टूबर 2021 में पहले बनाए गए सभी प्रोडक्टर्स को वापिस मंगाया था। लेकिन फिर एक बार पर्सनल केयर वाले प्रोडक्ट्स को सवालो के घेरे में रख दिया है। पिछले साल में कई एयरोसोल सनस्क्रीन जैसे प्रोडक्ट्स जिसमें जॉनसन एंड जॉनसन की नूट्रोगेना, एडजवेल पर्सनल केयर कंपनी की बनाना बोट को लेकर इस तरह की खबरें सामने आ चुकी है। रिपोर्ट्स की माने तो, पीऐंडजी ने पिछले साल दिसम्बर में बेंजीन के मिले होने का हवाला देते हुए अपने पैंटीन और हर्बल एसेस ड्राई शैम्पू को वापस मंगाया था।

Read more: Rishi Sunak के पीएम बनने पर विपक्ष को इस मुस्लिम IAS ने दिया करारा जवाब, बोले- इस्लामिक देश सोच भी नहीं सकते…

Unilever

ड्राई शैम्पू और पाउडर या फिट स्प्रे जैसा ही होता है। इस तरह के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल आम तोर पर बालो को गीला करे बिना ही साफ़ करने के लिए होता है। यह पहली बार नहीं है जब स्प्रे-ऑन ड्राई शैम्पू पर सवाल उठे है। कंपनी ने प्रोडक्ट्स में पाए जाने वाले बेंजीन की मात्रा जारी नहीं है। लेकिन यूनिलीवर ने इसपर कहा कि उसने सभी प्रोडक्ट को सावधानी से वापस बुला लिया है।

जॉनसन बेबी पाउडर पर भी हुई थी कार्यवाई !

भारत में भी जॉनसन एंड जॉनसन के सबसे पॉपुलर बेबी प्रोडक्ट, बेबी पाउडर पर कार्यवाई हुई थी। बाईट कुछ दिनों में महाराष्ट्र सरकार के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (FDA) ने जोंसन बेबी पाउडर का लाइसेंस को रद्द कर दिया था। पाउडर के सैंपल स्टैंडर्ड क्वालिटी पर खरे नहीं उतरे थे। FDA ने एक प्रेस नोट जारी किया था जिसमे कहा गया था – जॉनसन बेबी पाउडर के इस्तेमाल से नवजात शिशुओं की त्वचा को नुकसान पंहुचा सकता है। FDA के अनुसार, जोसोनो बेबी पाउडर के सैंपल लेब में परीक्षण के दौरान मानक PH value के मुतबिक नहीं थे।