Elon Musk और Parag Agarwal के बीच आखिर क्यों बढ़ी दुश्मनी? जानिए पूरी कहानी…..

इन दिनों ट्विटर(Twitter) को लेकर काफी कुछ देखने और सुनने को मिल रहा है. दुनिया के सबसे आमिर आदमी एलन मस्क(Elon Musk) ने ट्विटर को खरीद लिया. इतना ही नहीं ट्विटर के मालिक बनते ही एलन मस्क ने सीईओ(CEO) पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) को बाहर का रास्ता दिखा दिया. ट्विटर के मालिक बनते ही आखिर क्यों सबसे पहले बिजली गिरी कंपनी के सीईओ पराग अग्रवाल पर गिरी? चलिए हम आपको बताते हैं इसके पीछे का पूरा सच.

पराग अग्रवाल ने मस्क पर कसा था तंज

ट्विटर (Twitter) से बाहर किए गए भारतीय मूल के पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) शुरू से ही मस्क के खिलाफ खासे मुखर रहे हैं. मस्‍क की ओर से ट्विटर के लिए बोली लगाने के बाद से ही कंपनी के सीईओ पराग अग्रवाल के साथ उनकी नोकझोंक चल रही थी. एलन मस्क के ट्विटर को खरीदने का प्रस्ताव देने के बाद पराग अग्रवाल ने कई ऐसे बयान दिए थे, जिनसे दोनों के बीच तनातनी साफ उजागर हुई थी. बता दें पराग अग्रवाल ने डील की घोषणा के तुरंत बाद कर्मचारियों से टाउनहाल में कहा था, ‘कंपनी का भविष्य अब अंधेरे में हैं, पता नहीं यह किस दिशा में जाएगी.’

पहले ही लगाए गए थे ये कयास

पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) के इस बयान के बाद से ही कयास लगाए जाने लगे थे कि क्या ट्विटर से उनकी छुट्टी हो जाएगी? हुआ भी कुछ ऐसा ही शुक्रवार 28 अक्टूबर 2022 को आखिरकार एलन मस्क ने ट्विटर डील पूरी की और एक्शन मोड में आते ही सबसे पहले पराग अग्रवाल को बाहर का रास्ता दिखा दिया. उनके साथ कंपनी के मुख्य वित्तीय अधिकारी (CFO) नेड सेगल को भी बर्खास्त कर दिया गया है. इसके अलावा लीगल पॉलिसी, ट्रस्‍ट और सेफ्टी विभाग की हेड विजया गड्डे को भी निकाल दिया गया है.

मस्क ने लगाया ये बड़ा आरोप

एलन मस्क (Elon Musk) की ओर से ट्विटर डील को कैंसिल करने के ऐलान के बाद भी पराग अग्रवाल खुल कर सामने आए थे और उन्होंने चुटीले अंदाज में मस्क पर कई तंज कसे थे. वहीं ट्विटर के नए बॉस बने एलन मस्क ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फेक अकाउंट की संख्या को लेकर पराग अग्रवाल समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों और ट्विटर के निवेशकों को गुमराह करने का आरोप लगाया था.

एलन मस्क(Elon Musk)ने इसके साथ ही अपने ट्विटर अकाउंट से शुक्रवार को एक ट्वीट करते हुए कहा, ‘चिड़िया आजाद हो गई.’