लखीमपुर खीरी मामले में 8 लोगों ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया, CM योगी नहीं करेंगे माफ़..!!

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में ‘किसान प्र दर्शन कारियों’ ने भाजपा कार्यकर्ताओं  के साथ अच्छा नहीं किया। इस मामले में 8 लोगों ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पर कहा की सब कुछ ठीक हो जायेगा। उन्होंने कहा है कि सरकार इसकी तह में जाकर जाँच करेगी.  इसमें शामिल तत्वों को ढूंढकर उचित नि र्णय लिया जायेगा। मौके पर कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद हैं।

प्रशासन का कहना है कि स्थिति फ़िलहाल नि यंत्रण में है। सरकार ने अपर मुख्य सचिव (कार्मिक एवं कृषि), एडीजी (कानून-व्यवस्था), लखनऊ के आयुक्त एवं आईजी को मौके पर कैम्प करने के लिए भेजा है। सरकार ने लोगों से अपील की है कि वो घरों में रहें और किसी की बातों में न आएँ। मौके पर शांति-व्यवस्था कायम करने में लोगों का योगदान माँगते हुए सलाह दी गई है कि जाँच से पहले वो कोई अनुमान न लगाएं।

लखीमपुर खीरी मामले में आये कई वीडियो सामने

लखीमपुर खीरी से इधर कुछ है रान कर देने वाले वीडियो भी सामने आए हैं, जिनमें कुछ लोगों को हाथा पाई करते हुए देखा जा सकता है। ये ‘किसान प्रदर्श नकारी’ लाठी-डंडे लेकर आ गए थे। तथाकथित ‘किसानों’ का कहना है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे ने जबर दस्ती ‘किसानों’ के ऊपर गाड़ी चढ़ा कर उन्हें दबा दिया। ये अभी साफ़ नहीं है कि वीडियो में जिस व्यक्ति से हाथा पाई हुई है, उसकी क्या स्थिति है।

एक अन्य लंबा वीडियो भी सामने आया है, जिसमें ‘किसानों’ को उ कसाते हुए देखा जा सकता है, जिन्हें वो भाजपा कार्यकर्ता समझ रहे हैं। साथ ही वो आने-जाने वाले लोगों से ये भी कह रहे हैं कि वो वीडियो रिकॉर्ड न करें। एक अन्य वीडियो में एक ‘किसान’ को अपने साथी से कहते सुना जा सकता है कि वो भाजपा कार्यकर्ताओं की गाड़ी पलट दे।

किसानों ने व्यक्ति की एक न सुनी

इस दौरान अच्छे शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया गया। एक अन्य वीडियो में एक व्यक्ति के साथ अनुचित बर्ताव होते देखे जा सकता है। शायद वही व्यक्ति उस कार में था, जिसे पलट दिया गया। वो बार-बार कह रहा है कि उसे मिश्रा ने स्थिति का जायजा लेने के लिए भेजा था, लेकिन ‘किसान’ उससे जब रन बुलवाना चाह रहे थे कि उसे किसानों को वहां से अलग करने के लिए भेजा गया था।

वीडियो में उक्त व्यक्ति को मिन्नतें करते हुए देखा जा सकता है कि उसे छोड़ दिया जाए। एक अन्य वीडियो में पी टा जा रहा व्यक्ति यही है या अलग है, ये अभी साफ़ नहीं है। ANI से बात करते हुए एके मिश्रा ने बताया कि उनका बेटा लखीमपुर खीरी पर था ही नहीं, बल्कि अ सामाजिक तत्वों ने लाठी-डंडों से भाजपा कार्यकर्ताओं से अनुचित बर्ताव किया। उन्होंने कहा कि अगर उनका बेटा वहाँ होता तो शायद वो आज हमारे बीच नहीं होता।

Also Read : CM योगी ने राहुल गांधी को दिया जवाब…..

मामले में अजय कुमार मिश्रा किया अपना रुख साफ़

अजय कुमार मिश्रा ने कहा, “उन्होंने लोगों से हाथा पाई की। गाड़ियों को स्वाहा किया है। सार्वजनिक संपत्ति का नु क्सान किया है। हमारे पास वीडियो सबूत मौजूद हैं। हमारे कार्यकर्ताओं सही हैं । वो तो अतिथियों का स्वागत करने गए थे। लेकिन, उनकी गाड़ियों पर प त्थर बाजी शुरू कर दी गई। जैसे ही गाड़ियाँ रुकी, ‘किसानों’ ने सबको भगाना शुरू कर दिया।” बता दें कि कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी कल लखीमपुर खीरी जाएँगी।

जबकि ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ का कहना है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष ने तीन किसानों को दुनिया से अलविदा कर दिया, तो कइयों के ऊपर उन्होंने गाड़ी चढ़ा दीं। स्थानीय अस्पताल में दो मृ त लोग लाए गए। एक तजिंदर सिंह नाम का व्यक्ति गं भीर हालत में लाया गया। कई वि पक्षी नेता इस मामले में हर कत में आ गए हैं और वो वहाँ का दौरा करेंगे। प्रियंका गाँधी राजधानी लखनऊ पहुँच भी गई हैं।