24.9 C
New York
Tuesday, July 16, 2024

Buy now

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने तय की नई स्पीड लिमिट, जानिए अब कितनी स्पीड में चलानी है गाड़ी

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस(Delhi Traffic Police) के द्वारा आज राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की सड़कों पर गाड़ियों को अनियंत्रित रूप से चलने की वजह से अलग -अलग श्रेणी के मोटर गाड़ियों के लिए अलग अलग स्पीड लिमिट निश्चित की है। दिल्ली पुलिस के द्वारा अधिसूचना जारी की गई है। जिसमें नई गति सीमा को लेकर कुछ गाइडलाइन दी गई है। नए स्पीड लिमिट नीति को लागू करने की बात कही गई है। जिस से यह स्पष्ट है की सरकार इसे तत्काल प्रभाव में लाना चाहती है। जारी अधिसूचना में दर्ज नए नियमों के तहत उबर(Uber), ओला(OLA) जैसी गाड़ियां जो ऐप-आधारित कैब (App-based Cabs) होती है। यह सड़कों पर अपने गाड़ियों को 50 से 70 किमी प्रति घंटे की अधिकतम रफ़्तार से चला सकते हैं क्योंकि ये वाहन एम 1 श्रेणी के वाहनों में शामिल होते हैं।

आवासीय जगहों पर गाड़ी की गति सीमा 30 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ज्यादा नहीं

एम 1 श्रेणी में और भी कई कारें और जीप शामिल हैं। जबकि कमर्शियल मार्केट, छोटी सड़कों और आवासीय जगहों पर गाड़ी की गति सीमा 30 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक ही चला सकते हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने हाइवे और फ्लाईओवरों पर सभी दोपहिया, मोटरबाइकों की अधिकतम स्पीड 50 से 60 किमी प्रति घंटे तय की है। लेकिन जब भी दोपहिया वाहन आवासीय परिसर यानी की गली में जहां घर मौजूद हो, सर्विस रोड, और मार्केट में प्रवेश करेंगे तो यह स्पीड 30 किमी प्रति घंटे होनी चाहिए। वाहनों के लिए भी, आवासीय क्षेत्रों, वाणिज्यिक बाजारों और सर्विस रोड के अंदर सभी छोटी सड़कों पर स्पीड लिमिट 30 किमी प्रति घंटा निर्धारित की गई है।

एम 2 श्रेणी के वाहन 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकते हैं

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के द्वारा ग्रामीण सेवा, टीएसआर, फट-फट सेवा के साथ साथ सभी परिवहन वाहनों के लिए स्पीड लिमिट निश्चित की गई है। यह 40 किमी प्रति घंटे की एक समान गति से बनी हुई है। मतलब 40 किमी की रफ्तार से चलाने पर किसी प्रकार का चालान नहीं देना होगा। एम 2 श्रेणी के गाड़ियों में अधिकांश सड़कों पर गति 50-60 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार सीमित कर दी गई है। इसके अंतर्गत सभी डिलीवरी वैन, मोटरकार इत्यादि सम्मिलित है।

Also Read:- राशन पर रस्साकसी, BJP प्रवक्ता खेमचंद शर्मा ने केजरीवाल को घेरा

हाई स्पीड में चलाने पर हो सकता है जुर्माना

यदि कोई सवारी या चालक अथवा ड्राइवर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस द्वारा तय की गई अधिकतम गति सीमा के 5 प्रतिशत से ज्यादा गति से चलता है तो इसे नियमों का उल्लंघन माना जायेगा। उल्लंघन के एवज में दिल्ली पुलिस मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 183 के तहत अपराधी माना जा सकता है और जुर्माने के साथ साथ जेल भी हो सकती है। जबकि अगर कोई इंसान निश्चित की गई नियमों के 5 प्रतिशत के अंदर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा जाता है, तो उसे दिल्ली यातायात पुलिस द्वारा अधिसूचना के मुताबिक माफ किया जा सकता है।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles