24.6 C
New York
Tuesday, July 23, 2024

Buy now

Azam Khan को हेट स्पीच के मामले में बड़ी सजा! PM मोदी और तत्कालीन DM के खिलाफ दी थी…..

आजम खान(Azam Khan) समाजवादी पार्टी(SP) के एक कद्दावर नेता हैं. जिन्होंने वक़्त पड़ने पर सपा के लिए एक ढाल का भी काम किया था. आजम अखिलेश यादव(AKhilsh Yadav) के काफी करीबी माने जाते हैं. लेकिन इन दिनों उनके लिए ही मुसीबत बढ़ती हुई नज़र आ रही है. दरअसल भड़काऊ भाषण देने के मामले में समाजवादी पार्टी के बड़े नेता आजम खान को रामपुर एमपी-एमएलए कोर्ट ने हेट स्पीच के मामले में 3 साल की सजा सुनाई है. साल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान दिए गए भड़काऊ भाषण को लेकर कोर्ट ने उन्हें दोषी पाया और तीन साल के लिए जेल की सजा के साथ 25 हजार का जुर्माना लगाया है. हालांकि, सजा के एलान के कुछ ही समय बाद आजम खान को जमानत भी मिल गई. कोर्ट के बाहर आकर आजम खान ने पहला बयान दिया.

आजम खान(Azam Khan) ने कहा, “मैं बेल पर हूं इंसाफ का कायल हो गया हूं. हिम्मत नहीं हारा हूं. अभी दरवाजे बंद नहीं हुए हैं, लड़ाई जारी रहेगी. अभी कानूनी रास्ते खुले हैं. अब ऊपरी अदालत में अपील करेंगे.”

रामपुर की इस सीट पर होगा उपचुनाव

आजम खान(Azam Khan) को धारा 153A, 505A और 125 के तहत दोषी पाया गया है. ऐसे में उनकी विधानसभा की सदस्यता चली गई है. जानकारी के लिए बता दें कि विधानसभा में सदस्यता पाने का नियम है कि विधायक पर कोई ऐसा बड़ा मुकदमा न हो, जिसपर दो साल या उससे ज्यादा की सजा हो. अगर ऐसा होता है तो विधायक की सदस्यता तय समय तक के लिए रद्द कर दी जाएगी और खाली हुई विधानसभा सीट पर उपचुनाव होगा.

आजम खान(Azam Khan) पर 6 साल तक के लिए चुनाव नहीं लड़ सकते. यह आजम खान के राजनीतिक करियर में एक बड़ा रोड़ा है और यूपी निकाय चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के लिए एक बड़ी बाधा भी.

साल 2019 में दिया था हेट स्पीच

आजम खान(Azam Khan) ने साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले इलेक्शन कैंपेन के दौरान विधानसभा के एक गांव में जनसंबोधन कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने तत्कालीन डीएम, प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ(Yogi Adiyanath) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) के खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल कर दिया था, जो अमर्यादित थी. इसको लेकर 27 जुलाई 2019 को बीजेपी के नेता आकाश सक्सेना ने आजम खान के खिलाफ केस दर्ज कराया था. 3 साल बाद, इस मामले में आजम खान को दोषी पाया गया और उनका राजनीतिक करियर संकट में चला गया.

 

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles