26 C
New York
Tuesday, July 16, 2024

Buy now

युगांडा के गांव से जिंदा पकड़ा गया ‘ओसामा बिन लादेन’ नाम का मगरमच्छ, 14 सालों में 80 लोगों को बनाया अपना शिकार

दुनिया में किसी प्राणी का नाम विशेषकर किसी व्यक्ति के नाम पर नहीं रखा जा सकता, ऐसा ज़रूरी नहीं है। वर्तमान में जानवरों को भी अलग-अलग नामों से जाना जाता है। आज आपको ऐसी ही एक घटना के बारे बताने जा रहे हैं। जिसमें एक मगरमच्छ को ओसामा बिन लादेन के नाम से जाना जाता है। वह मगरमच्छ लगभग 30 साल से एक तालाब में छूपा हुआ था।

युगांडा के गाँव में छूपा था ओसामा बिन लादेन (मगरमच्छ )

यह घटना दक्षिण अफ्रीका के युगांडा के छोटे से गांव लूगंगा(Luganga Village) की है। बीते 30 सालों से विशालकाय मगरमच्छ गांव के नज़दीकी तालाब में रह रहा था। 14 सालों में इस मगरमच्छ ने गांव के करीब 80 लोगों को अपना शिकार बनाया है। इसी वजह से गांव वालों ने इसका नाम ओसामा बिन लादेन रखा है। यह मगरमछ गांव वालों का शिकार करके उन्हें जिंदा खा जाता था। 30 साल बाद जाकर यह मगरमच्छ गांव वालों के चंगुल में फंसा है। आखिरकार गांव के लोगों ने इसे पकड़ लिया है।

75 वर्षीय ओसामा ने मछुआरों को नहीं बख्शा

बीते 30 सालों में गांव वाले इस मगरमच्छ से परेशान हो चुके थे। इसकी उम्र लगभग 75 साल के करीब बताई जाती है। यह मगरमच्छ युगांडा के लेक विक्टोरिया में रहता था। 16 फ़ीट के इस मगरमच्छ ने छोटे से इस गांव में 2005 तक करीब 80 लोगों को निगल लिया था। ओसामा तालाब पर पानी भरने आये बच्चों को खींच लेता था। इतना ही नहीं, तालाब में मछली पकड़ने गए लोगों पर यह मगरमच्छ उछलकर पानी मे खींच लेता था।

Also Read:- एक महिला को एक साथ गलती से कोरोना टीके की 6 खुराक लगा दिया गया,जाने फिर क्या हुआ

पाकिस्तानी आतंकी के नाम पर रख गया था इसका नाम

अमेरिका(America) का मशहूर वर्ल्ड ट्रेड सेंटर(World Trade Centre) गिराने वाले आतंकवादी(Terrorist) ओसामा बिन लादेन के डर से पूरी दुनिया वर्षो तक त्रस्त हो गई थी। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान(Pakistan) के एबटाबाद में मौजूद ओसामा बिन लादेन को 2 मई 2011 को मार दिया गया था।

हमले में कई गांव के लोगों को नहीं बक्शा

ओसामा ने अबतक 80 लोगों को निगल लिया है, गावं के लोग उसके खौफ में जीते थे। कई लोगों को ओसामा ने घायल भी कर दिया था। किसी के हाथ नही हैं तो किसी के पैर नही हैं। लोगों ने ओसामा से त्रस्त होकर उसे पकड़ने का प्लान किया। कई लोगों ने मिलकर उसे पकड़ लिया और युगांडा क्रोक्स को ब्रीडिंग प्रोग्राम के लिए दे दिया है।

Related Articles

Stay Connected

51,400FansLike
1,391FollowersFollow
23,100SubscribersSubscribe

Latest Articles